Politics

कश्मीर मुद्दे पर कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह-चिदंबरम का मोदी सरकार पर हमला, दिया ये बड़ा बयान

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

एक तरफ जहां कश्मीर सहित पूरा देश बकरीद मना रहा है, वहीं कांग्रेस के कुछ नेता तुष्टिकरण की राजनीति करने से बाज नहीं आ रहे हैं। कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम और दिग्विजय सिंह ने अनुच्छेद 370 पर केंद्र के फैसले की आलोचना करते हुए विवादित बयान दिया है।

पी चिदंबरम ने कहा है कि यदि जम्मू कश्मीर हिंदू बहुल राज्य होता, तो भाजपा विशेष दर्जा नहीं छीनती। चिदंबरम ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार ने जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को हटाने के लिए बाहुबल का इस्तेमाल किया। 

उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में स्थिति अस्थिर है और अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसियां अशांति को कवर कर रही हैं, लेकिन भारतीय मीडिया यह काम नहीं कर रहा। 

उन्होंने भाजपा के कदम की यहां रविवार को एक कार्यक्रम में निंदा करते हुए कहा, ‘‘...वे (भाजपा) दावा करते हैं कि कश्मीर में स्थिति स्थिर है। क्या ऐसा है? यदि भारतीय मीडिया जम्मू कश्मीर में अशांति को कवर नहीं कर रहे हैं तो क्या इसका यह मतलब है कि स्थिति स्थिर है ? ’’

वहीं दिग्विजय सिंह ने आगे कहा कि  सरकार ने अपने हाथ आग में झुलसा दिए हैं। कश्मीर को बचाना हमारी प्राथमिकता है। मैं मोदीजी, अमित शाह जी और अजीत डोभाल जी से अपील करता हूं कि सतर्क रहें नहीं तो हम कश्मीर खो देंगे। 

ईद के पावन त्योहार को लेकर घाटी में सुरक्षा पूरी पुख्ता की गई है, ताकि किसी भी तरह की अप्रिय घटना ना हो।  ईद के खास मौके पर रिपब्लिक भारत की टीम ने एक खास रिपोर्ट तैयार की है जिसमें आसमान से 'जन्नत की ईद' का दीदार कराया गया। रिपब्लिक टीवी के एरियल सर्वे में ईद के मौके पर कश्मीर घाटी समेत डल झील की तस्वीरे दिखाई गईं है। तस्वीरों में साफ नजर आ रहा है कि घाटी में सब कुछ सामान्य है।

बता दें ईद से पहले धारा 144 में थोड़ी छूट दी गई थी, बाजार खुले रहे। ईद की खरीदारी करने के लिए लोग बाहर निकले। पुलिस की ओर से बयान दिया गया है कि घाटी में शांति है और बीते एक हफ्ते में एक भी गोली नहीं चलाई है।

DO NOT MISS