Politics

राहुल गांधी ने एक बार फिर उठाया राफेल डील का मुद्दा, कहा- ''ये साबित हो गया कि चौकीदार चोर है''

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

राफेल को लेकर छिड़ा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर राफेल राफेल डील के मुद्दे को हवा देते हुए भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। 

राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर एक बार फिर निशाना साधा और आरोप लगाया कि इस विमान सौदे को लेकर मोदी ने फ्रांस के साथ समानांतर बातचीत की और उन्हें इस पर जवाब देना चाहिए। उन्होंने कहा, ''ये बिल्कुल साबित हो गया है कि चौकीदार चोर है''

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से झूठ बोला, पूरे फैसले पर ही सवाल खड़ा हो गया है क्योंकि जिस कैग रिपोर्ट को पेश किया जाना था, वो कभी पेश ही नहीं हुई। मोदी सरकार कांग्रेस के किसी भी नेता से कोई भी पूछताछ कर सकती है। हम इसका सामना करने के लिए तैयार हैं। लेकिन राफेल पर भी पूछताछ होनी चाहिए।

राहुल ने कहा, ‘‘ओलांद ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें बोला था कि अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपए का अनुबंध दिया जाए। अब रक्षा मंत्रालय कह रहा है कि प्रधानमंत्री ने समानांतर बात की और हमारी स्थिति कमजोर की। इस पर प्रधानमंत्री जवाब दें।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘वायुसेना के मेरे पायलट मित्रों, आप लोग समझ लो कि ये 30 हजार करोड़ रुपए आपके लिए इस्तेमाल हो सकते थे। उन्होंने ये पैसे अनिल अंबानी को दे दिए। अब स्पष्ट है कि प्रधानमंत्री ने इस देश से चोरी की है। मैं कड़े शब्द इस्तेमाल नहीं करता, लेकिन करने को विवश हो रहा हूं कि भारत के प्रधानमंत्री चोर हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें - PM मोदी ने राफेल को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा -उनके काल में एक भी रक्षा सौदा बिना दलाली के नहीं हुआ, इसलिए वह इतना झूठ बोल रहे हैं

गौरतलब है कि गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राफेल पर बडा बयान दिया, उन्होंने कहा ''कांग्रेस राफेल को लेकर खुलकर इसलिए झूठ बोलती है क्योंकि उनके काल में एक भी रक्षा सौदा बिना दलाली के नहीं हुआ था । कांग्रेस वायुसेना को मजबूत होने देना नहीं चाहते थे। कांग्रेस ने राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर खेलती रही।''  

राफेल विमान सौदे को लेकर कांग्रेस और राहुल गांधी प्रधानमंत्री और अनिल अंबानी पर लगातार हमले कर रहे हैं। हालांकि सरकार और अनिल अंबानी के समूह ने उनके आरोपों को पहले ही खारिज किया है।

DO NOT MISS