Politics

EXCLUSIVE: राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने बताया, "कैसे राफेल नहीं, अगस्ता डील था एक घोटाला"

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

खेल मंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्नब गोस्वामी से 'नेशन वॉन्ट्स टू नो'  में एक्सक्लूसिव बातचीत की, जहां उन्होंने अगल अगल मसलों पर सरकार की राय को खुलकर रखा.

लोकसभा चुनाव से पहले जो चुनावी बहस का मुद्दा बना हुआ है अगस्ता वेस्टलैंड मामले में कथित बिचौलिया क्रिश्चियन मिशेल से "सच" निकलवाने में जांच एसेंजी कम सक्ष्म होंगी. 
कर्नल राठौड़ ने इस सवाल का जवाब देते हुए कहा कि उनकी सरकार उन सभी नियमों और कानूनों का पालन करेगी, जिसकी वजह से समय लगेगा,  जबकि दूसरी ओर अपने कार्यकाल के दौरान अगस्ता को फाइटर प्लेन के ऊपर प्राथमिकता देने के लिए कांग्रेस पर भी कटाक्ष किया.

उन्होंने कहा, "इसमें समय लगता है. चूंकि हम एक तानाशाही में नहीं हैं, जैसा कि कांग्रेस लोगों को विश्वास करना चाहेगी, हम नियमों और देश के कानून का पालन करते हैं. उनके पास (सच्चाई) पता लगाने की अपनी प्रक्रिया है. यह सवाल है कि एजेंसियां अब यह पता लगाने की कोशिश कर रही हैं कि अगस्ता प्राथमिकता क्यों थी, और लड़ाकू विमानों को क्यों नहीं? उन्होंने (यूपीए) अगस्ता डील में ज्यादा रुचि दिखाई ना कि लडाकू विमानों में. वे उसमें क्यों रुचि रखते थे? और क्यों एक बिचौलिए की जरुरत पड़ी. हमारे पास एक बिचौलिया नहीं था, उनके पास एक बिचौलिया था. लेकिन अब हमारी गिरफ्त में वो बिचौलिया है.

कर्नल राठौर ने आगे  विस्तार से बताया कि अगस्ता क्यों एक "स्कैम" है और राफेल नहीं.   

उन्होंने कहा "राफेल में, फ्रांस के राष्ट्रपति ने जवाब दिया है, डसॉल्ट के प्रमुख ने जवाब दिया है और सब कुछ साफ किया. एचएएल ने सब कुछ जवाब दिया और साफ कर दिया है. वायु सेना के उप-प्रमुख ने इसके बारे में बात की है और इसका जवाब दिया है. भारतीय पीएम, रक्षा मंत्री और सुप्रीम कोर्ट ने इसके बारे में बात की, फिर भी कांग्रेस इसके बारे में बोल रही है .... हमारे पास (अगस्ता वेस्टलैंड मामले का "बिचौलिया"  क्रिश्चियन मिशेल है जो हिरासत में बोल रहा है , जिसको अंतरराष्ट्रीय नियमों और विनियमों के कारण भारत लाना आसान नहीं था. लेकिन फिर भी हम उसे यहां लेकर आएं. वह अब तोते की तरह बोल रहा है कि वो कौन लोग थे जिन्हें उसने पैसे दिए.  यह विडंबना नहीं है कि एक तरफ, इतने लोगों ने इसका जवाब दिया है, और दूसरी तरफ, आपके पास बिचौलिया है जो बोल रहा है. "
 

DO NOT MISS