PC: PTI
PC: PTI

Politics

CM योगी ने औरैया दुर्घटना में मृतकों के परिजन एवं घायलों के लिए की मुआवजे की घोषणा

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को औरैया में एक सड़क दुर्घटना में प्रवासी श्रमिकों की मौत पर गहरा शोक व्यक्त किया और शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की। यहां जारी एक सरकारी बयान के मुताबिक मुख्यमंत्री ने इस दुर्घटना में मरने वाले मजदूरों के परिवार को दो-दो लाख रुपये और गंभीर रूप से घायल मजदूरों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने अधिकारियों को पीड़ितों को हरसंभव राहत प्रदान करने तथा सभी घायलों का समुचित उपचार कराने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने इस घटना की जवाबदेही तय करते हुए दो थानों के एसएचओ को तत्काल निलम्बित करने का आदेश दिया। साथ ही संबंधित थाना क्षेत्र के प्रभारी क्षेत्राधिकारियों को कठोर चेतावनी देने का आदेश दिया।

बयान के मुताबिक मुख्यमंत्री ने कहा कि मथुरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एसपी) तथा आगरा के एसएसपी एवं अतिरिक्त एसपी का तत्काल स्पष्टीकरण लिया जाए। इसके साथ ही आगरा जोन के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी) एवं महानिरीक्षक (आईजी) का भी इस प्रकरण में स्पष्टीकरण मांगा गया है।

उन्होंने दोनों ट्रक मालिकों पर आईपीसी की संबंधित धाराओं में मामला दर्ज करने तथा दोनों ट्रकों को जब्त करने के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने सभी सीमा क्षेत्रों को यह सुनिश्चित करने पर पुन: बल दिया है कि लोगों को ट्रक जैसे असुरक्षित वाहनों से न लाया जाए। मुख्यमंत्री ने सीमा क्षेत्र के हर जिले में 200 बसें जिलाधिकारी के पास रखने का आदेश पहले ही दे रखा है। साथ ही श्रमिकों को बस से भेजने के लिये धनराशि को भी स्वीकृति दी है। जिलाधिकारियों को इन आदेशों का सख्ती से पालन करने का पुन: निर्देश दिया गया है।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में शनिवार सुबह ट्रक और एक डीसीएम मेटाडोर (ट्रक से छोटा वाहन) की टक्कर में 24 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गयी जबकि 36 अन्य मजदूर घायल हो गये। इन दोनों वाहनों में ज्यादातर पश्चिम बंगाल और झारखंड के मजदूर सवार थे।

इसे भी पढ़ें:  लॉकडाउन के बीच आदिवासियों तक पहुंचे आवश्यक सेवाएं : अदालत ने महाराष्ट्र सरकार से कहा