Politics

CM देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना पर किया तीखा प्रहार, ''करारा जवाब मिलेगा''

Written By Dinesh Mourya | Mumbai | Published:

महाराष्ट्र की सियासत में शिवसेना और बीजेपी का रिश्ता उस मोड पर पहुंच गया हैं जहां से फिर एक साथ आना बेहद मुश्किल है. फडणवीस सरकार के पांच साल खत्म होने के साथ शिवसेना ने राज्य और केंद्र सरकार के नीतियों पर हमले तेज़ कर दिए हैं. हाल ही में पंढरपूर में शिवसेना के मुखिया उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अबतक का सबसे बड़ा जुबानी हमला करते हुए कहा था कि “चौकीदार ही चोर हैं”. 

ये वही आरोप हैं जो कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पिछले कई महिनों से प्रधानमंत्री पर लगा रहें हैं और हाल ही में हुए चुनावों में इस आरोप को कई बार दोहराया. भले ही राहुल गांधी राफेल सौदे में घोटाले का आरोप लगा रहें हो लेकिन देश की सर्वोच्च अदालत ने राफेल मामले में केंद्र सरकार को क्लिन चीट दे दिया हैं. इस क्लिन चीट के बावजूद कांग्रेस झुकने को तैयार नहीं हैं और लगातार राफेल के मुद्दे को हवा दे रही है.

उद्धव ठाकरे सरकार में आने के बाद PM मोदी पर कई तरह के आरोप लगाते रहे हैं. हर बार उन्होंने पीएम पद की गरिमा का ख्याल रखा था लेकिन चौकीदार चोर हैं कहकर उद्धव ने बीजेपी को सबसे गहरा चोट पहुंचाया है. 

शिवसेना द्वारा कई गंभीर आरोप लगाने के बावजूद भी बीजेपी ने हमेशा मर्यादा का ख्याल रखा और उद्धव ठाकरे या शिवसेना को सीधे जवाब देने से बचते रहें. मीडिया की तमाम कोशीशों के बावजूद भी बीजेपी ने हमेशा चुप्पी साधी रही, लेकिन पहली बार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेद्र फडणवीस ने शिवसेना को करारा जवाब देना का ऐलान कर दिया है.

रिपब्लिक टीवी के सवाल का जवाब देते हुए देवेंद्र फडणवीस से कहा, “हम शिवसेना के आरोपों को ज्यादा महत्व नहीं देते हैं.. पूरी दुनिया जानती है कि हमारे प्रधानमंत्री क्या हैं. वो अपने जीवन का हर क्षण देश की सेवा में लगा रहें हैं”. 

फडणवीस यहीं नहीं रुके, उन्होंने नरेंद्र मोदी की तुलना सूर्य से कहते हुए कहा कि जब कोई सूरज पर थूकने की कोशिश करता हैं तो वो थूक उसी व्यक्ति की मुंह पर गिरता है.

शिवसेना पर और तीखा प्रहार करते हुए फडणवीस ने कहा कि सियासत में सही वक्त पर अपने प्रतिद्वंदियों को जवाब देना जरुरी हैं और मैं भी सही पर पर इनलोगो को जवाब दूंगा.. बस आप उस वक्त का इंतजार करिए.

दरअसल, बीजेपी आगामी लोकसभा चुनाव के लिए शिवसेना के साथ गठबंधन करना चाहती है. पार्टी आलाकमान की तरफ से साफ निर्देश है कि कोई भी नेता शिवसेना के आरोपों पर तब तक जवाब नहीं देगा जब तक सीटों के बंटवारे का मुद्दा हल नहीं हो जाता है.

यही वजह थी कि तमाम तरह की आरोप-झिल्लतें झेलने के बाद भी किसी भी बीजेपी नेता ने अपना मुंह नहीं खोला लेकिन अब चौकीदार चोर हैं का आरोप लगातक शिवसेना ने लक्ष्मण रेखा पार कर दी है. बीजेपी नेताओं को लगता हैं कि अब सही वक्त आ गया हैं शिवसेना को सबक सीखाने का..

DO NOT MISS