Politics

पोस्टर के जरिए BSP ने खेला "PM कार्ड", मायावती को बताया "भावी प्रधानमंत्री", अखिलेश खेमे ने दिया ये जवाब

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

2019 के लोकसभा चुनाव के लिए मजह कुछ ही महीनें बचे हैं, ऐसे में कई विपक्षी नेता प्रधानमंत्री पद का सपना सजाए हुए हैं और समय- समय पर अपनी मंशा को सीधे या किसी ओर जरिए से सामने लाते रहते हैं. इसी बीच एक बार फिर प्रधानमंत्री पद की दौड़ के लिए मायावती को आगे करने की कोशिश बहुजन समाज पार्टी द्वारा की जा रही है और ये सब ऐसे वक्त में हो रहा है जब हाल ही में उन्होंने समजावादी पार्टी के साथ आगमी लोकसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया है.

दरअसल मायावती का आज 63वां जन्मदिन है. इस मौके पर बसपा के नेता और कार्यकर्ता उन्हें अगला प्रधानमंत्री पद का दावेदार बनाने की कवायद में जुट गए. बसपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधींद्र भदौरिया ने कहा है कि 'मेरा सपना है कि बहन मायावती प्रधानमंत्री बनें. इससे देश का नाम पूरी दुनिया में ऊंचा होगा. भारत जैसे बड़े लोकतांत्रिक देश में दलित महिला प्रधानमंत्री बनेगी तो दुनियाभर में सम्मान मिलेगा. दबे-कुचले और वंचित लोग बहन जी को पीएम बनते देखना चाहते हैं.'

सुधींद्र भदौरिया ने आगे न्यूज एजेसी एएनआई से बात करते हुए कहा कि 15 जनवरी हमारे लिए बहुत शुभ दिन है क्योंकि इस दिन बहन मायावती जी का जन्मदिन है. देश का हर दबाव कुचाला, दलित, अल्पसंख्यक व्यक्ति मायावती को प्रधानमंत्री बनते हुए देखा चाहता है. 

वहीं जब समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता से इस पूरे मामले पर राय जाननी चाही, तो घनशायम तिवारी ने कहा कि लोकतांत्रिक देश में जहां पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं, वहां जाने का किसी को भी मौका मिल सकता है. यहीं हमारे संविधान की शक्ति है. हमने पहले ही कहा था कि यह चुनाव बदलाव लाने वाला है और देश में एक नया प्रधानमंत्री होगा. 2019 के जनादेश प्रधानमंत्री का चुनाव करेगा. म उत्तर प्रदेश से आने वाले पीएम का स्वागत करेंगे"

बता दें, इससे पहले अखिलेश यादव ने मायावती ने साथ सांझा प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए मायावती की प्रधानमंत्री दावेदारी के सवाल पर कहा ,'' यूपी ने हमेशा पीएम दिया है. हमें खुशी होगी की यूपी से फिर एक प्रधानमंत्री बने .''  

DO NOT MISS