Politics

संबित पात्रा ने साधा राहुल गांधी पर निशाना, कहा- 'उनका फैंसी ड्रेस हिंदुइज्म भी देख रहा है'

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर जोरदार हमला बोला है. संबित पात्रा ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि ''ये वही राहुल गांधी हैं जिन्होंने भगवा आतंकवाद शब्द गढ़ा था. आज अचानक वो शिव भक्त बन रहे हैं .. पर जनता की आंख में कोई धूल नहीं झोक सकता और उनका फैंसी ड्रेस हिंदुइज्म भी देख रहा है.'' इसके साथ ही संबित पात्रा ने कहा, ''राहुल गांधी ने एक बार बोला था कि LeT से ज्यादा खतरा हिंदुओं से है.. ये वहीं राहुल गांधी हैं जिनके कार्यकाल के दौरान मनमोहन सिंह ने कहा था कि भारत के संसाधनों पर पहला हक मुसलमानों का है न कि हिंदुओं का..'' 

बता दें, संबित पात्रा ने ये टिप्पणी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के द्वारा अमेठी में किए गए भगवान शिव की पूजा को लेकर की है. भारतीय जनता पार्टी के द्वारा इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर भी सवाल उठाया गया था. बीजेपी के नेता और मंत्री गिरिराज सिंह ने उस दौरान राहुल गांधी की कैलाश मानसरोवर की यात्रा की फोटो को शेयर करते हुए उसे फेक बताया था. 

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी के दौरे पर हैं जहां पर उन्होंने  अमेठी के निगोहा गांव में राजीव गांधी महिला विकास परियोजना की सदस्याओं से मुलाकात की. इसके साथ ही उन्होंने अमेठी में आयोजित विभिन्न स्वागत कार्यक्रमों के दौरान कांवरिया संघ पहुंचे और भगवान शिव को पुष्पांजलि अर्पित की. 

बता दें, कांग्रेस पार्टी लगातार केंद्र सरकार पर राफेल डील को लेकर सवाल उठा रही है. कांग्रेस की तरफ से अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोर्चा संभाल रखा है. कांग्रेस अब राफेल के मुद्दे को लेकर CVC के पास गई है. कांग्रेस पार्टी ने ट्वीट करते हुए कहा है कि बीजेपी भले ही मना कर दे लेकिन इस पूरे मामले पर CVC का ऑडिट सबके सामने सच लाएगा. 

राफेल मुद्दे को लेकर कांग्रेस पार्टी के नेता आनंद शर्मा ने कहा है कि ''कांग्रेस पार्टी के एक डेलिगेशन ने केंद्रीय सतर्कता आयोग (CVC) से मिलकर ''राफेल डील स्कैम'' पर एक डिटेल मेमोरेंडम पेश किया है. केंद्रीय सतर्कता आयोग से हमने कहा है कि वो इस मामले में सभी फाइलों को सीज करे और इस मामले में FIR किया जाए.''

DO NOT MISS