Politics

'बीजेपी बन रही है डर का माहौल, बंगाल में नहीं लागू होने देंगे NRC' : ममता बनर्जी

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा पर आरोप लगाया कि एनआरसी को लेकर उसने भय का माहौल बनाया है। सोमवार को बनर्जी ने दावा किया कि इस वजह से राज्य में छह लोगों की मौत हुई है। तृणमूल सुप्रीमो ने यहां व्यापार संघों की बैठक को संबोधित किया।

बनर्जी ने कहा, ‘‘एनआरसी बंगाल या देश के किसी भी हिस्से में नहीं होगा। असम में यह असम समझौते की वजह से हुआ।’’ असम समझौता 1985 में तत्कालीन राजीव गांधी सरकार और ऑल असम स्टुडेंट्स यूनियन के बीच हुआ था।

बनर्जी ने कहा, ‘‘ बंगाल में एनआरसी को लेकर भय पैदा करने वाली भाजपा पर धिक्कार है, इसके कारण पश्चिम बंगाल में छह लोगों की जान चली गई। मुझ पर भरोसा रखिए, पश्चिम बंगाल में एनआरसी को कभी मंजूरी नहीं मिलेगी ।’’

भाजपा पर देश में ‘‘ लोकतांत्रिक मूल्यों को कमतर’’ करने का आरोप लगाते हुए बनर्जी ने कहा, ‘‘ पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र है लेकिन देश के कई अन्य हिस्सों में यह खतरे में है ।’’

उन्होंने कहा कि भाजपा रोजगार छीनने या भारत की अर्थव्यवस्था के नीचे जाने की कोई बात नहीं कर रही , वह तो बस अपने राजनीतिक हितों को साधना चाहती है। बनर्जी ने कहा कि हमने देखा कि उन्होंने (एबीवीपी, भाजपा) यादवपुर विश्वविद्यालय में क्या किया, वे हर जगह सत्ता हासिल करना चाहते हैं ।

 बाबुल सुप्रियो को जादवपुर विश्वविद्यालय में बृहस्पतिवार को काले झंडे दिखाने और कुछ छात्रों ने उनके साथ बदसलूकी करने के मामले में वहीं ममता ने कहा कि मेरा मानना है कि लोकतंत्र में विरोध प्रदर्शन महत्वपूर्ण हैं । जिस दिन विरोध प्रदर्शन अपना मूल्य खो देंगे, भारत भारत होना बंद हो जाएगा। बंगाल में लोकतंत्र अभी भी मौजूद है जबकि कुछ स्थानों पर लोकतंत्र नहीं है। हमने देखा है कि जादवपुर विश्वविद्यालय में क्या हुआ था ।

 

DO NOT MISS