Politics

BJP-शिवसेना में बनी बात.. लोकसभा में 25-23 सीट का फॉर्मूला सेट, बड़े भाई का रोल अदा करेगी बीजेपी

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

सत्ता के महामुकाबले को लेकर देश में सियासी हलचल परवान पर है। हर कोई अपने-अपने अंदाज़ में राजनीतिक दांव पेंच आजमा रहा है। ऐसे में आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र भारतीय जनता पार्टी और उसकी सहयोगी दल शिवसेना ने भी अपनी-अपनी कमर कस ली है। लेकिन इन सबके बीच सबसे बड़ी ख़बर ये आ रही है कि महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच बात बन गई है।

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और शिवसेना आगामी लोकसभा और विधानसभा में एकसाथ चुनाव लड़ेगी। लोकसभा में बीजेपी 25 सीट और शिवसेना 23 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इसकी जानकारी बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, महाराष्ट्र के CM देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस दी गई।

अमित शाह, उद्धव ठाकरे और सीएम फडणवीस ने साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके समझौता का ऐलान किया। रिपब्लिक भारत ने इस ख़बर को सुबह ही अपने दर्शकों तक पहुंचाया था। हमारी खबर पर मुहर लग चुकी है। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अमित शाह और उद्धव ठाकरे गले मिलते भी दिखाई दिए।

इस दौरान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि बीजेपी और शिवसेना के हजारों-लाखों कार्यकर्ता काफी खुश होंगे, क्योंकि सभी चाहते थे कि दोनों दल एकसाथ चुनाव लड़े। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के गठबंधन का सबसे पुराना साथी शिवसेना और अकाली दल हैं जो अच्छे बुरे वक्त पर साथ हमेशा साथ खड़ा रहा है।

शाह ने कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि आने वाले दोनों चुनाव लोकसभा और विधानसभा में दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता कंधा से कंधा मिलाकर आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा, ''अगर दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता एकसाथ मिलकर काम करेंगे तो निश्चित ही हमारी बड़ी जीत होगी।''

वहीं महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि सभी जानते हैं कि शिवसेना और भाजपा 25 साल से एक साथ है, हमारे बीच मतभेद हो सकते हैं लेकिन वैचारिक रूप से हम एक साथ हैं। 

सीएम फडणवीस ने कहा कि देशहित और समाजहित में हम लोग हर चैलेंज को स्वीकार करेंगे। उन्होंने बताया कि भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना आगामी लोकसभा और विधानसभा में एकसाथ चुनाव लड़ेगी। लोकसभा में बीजेपी 25 सीट और शिवसेना 23 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

इसके अलावा शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि राम मंदिर मुद्दे पर दोनों दल एकसाथ है, उन्होंने बताया कि राम मंदिर और हिंदुत्व के मुद्दे पर ही हमारे गठबंधन की शुरुआत हुई थी।

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर महाराष्ट्र में कांग्रेस और NCP के गठबंधन के बाद भारतीय जनता पार्टी ने शिवसेना के साथ तल्ख रिश्तों में नरमी आ चुकी है। बीजेपी और शिवसेना के बीच समझौता के बाद ये समझा जा सकता है कि बीजेपी महाराष्ट्र में बड़े भाई का रोल अदा करेगी।

इसे भी पढ़ें - सत्ता के महामुकाबले को लेकर अमित शाह ने कसी कमर, कहा- 'भारत के मन की बात - मोदी के साथ'

आपको बता दें, रिपब्लिक भारत के सूत्रों के हवाले से मिली ख़बर के मुताबिक बीजेपी अध्यक्ष कल यानी मंगलवार को तमिलनाडु में AIADMK से गठबंधन करने जा सकते हैं।

DO NOT MISS