Politics

गुजरात मामले पर बोले CM नीतीश, 'अधिकारी गुजरात सरकार के संपर्क में हैं'

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुजरात मामले पर सोमवार को कहा कि उनकी गुजरात के मुख्यमंत्री और वहां के मुख्य सचिव से बातचीत हुई है. हमारे मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक उनके संपर्क में हैं. नीतीश ने एक बच्ची के साथ कथित दुष्कर्म की निंदा की और कहा कि अपराध करने वाले को निश्चित तौर पर दंडित किया जाना चाहिए. लेकिन अन्य लोगों के संबंध में समान धारणा नहीं रखनी चाहिए.

पटना में एक कार्यक्रम में नीतीश से गुजरात मामले पर सवाल किया गया. इस पर उन्होंने कहा, ‘‘हमारी गुजरात के मुख्यमंत्री और वहां के मुख्य सचिव से बातचीत हुई है. हमारे मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक लगातार उनके संपर्क में हैं.’’ उन्होंने कहा कि इस तरह की जो घटनाएं हो रही हैं, उन पर हमारी नजर है. हम सभी से आग्रह करेंगे कि जिसने भी अपराध किया है, उसे निश्चित तौर पर दंडित किया जाए. उसके साथ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए लेकिन अन्य लोगों के संबंध में समान धारणा नहीं रखनी चाहिए.

नीतीश ने कहा कि वहां की सरकार भी पूरी तरह से सतर्क और सचेत है. कल ही हमारी बातचीत हुई है लेकिन हम सभी लोगों से अपील करेंगे कि एक राज्य के निवासियों को दूसरे राज्यों के लोगों के प्रति इस तरह की भावना नहीं रखनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें : बच्ची से रेप मामला: ठाकोर सेना की धमकी के बाद गुजरात छोड़ने को मजबूर हुए यूपी-बिहार के लोग

नीतीश की पार्टी जदयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने गुजरात में उत्तर भारतीय लोगों को निशाना बनाए जाने की घटना के लिए कांग्रेस पर दोषारोपण किया. उन्होंने इस संबंध में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को एक पत्र लिखा है. उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘आपने गुजरात के कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकुर को बिहार कांग्रेस का सहप्रभारी नियुक्त किया और उनकी सेना (गुजरात क्षत्रिय ठाकोर सेना) बिहार के लोगों को गुजरात से बाहर करने में जुटी है.’’ 

जदयू प्रवक्ता के आरोप पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कांग्रेस नेता प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि राहुल गांधी को पत्र लिखने के बदले उन्हें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बातचीत करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि नीतीश गठबंधन की सरकार चला रहे हैं जिसमें भाजपा साझेदार है और गुजरात में भाजपा की ही सरकार है.

DO NOT MISS