Politics

असम में पांच लोगों की हत्या मामले में सर्बानंद सोनोवाल ने दिया अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वासन

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

असम के तिनसुकिया जिले के खेरोनी में गुरुवार की रात संदिग्ध उल्फा (इंडिपेंडेंट) उग्रवादियों ने पांच लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी जबकि दो अन्य घायल हो गए. पुलिस ने बताया कि मारे गए पांच लोगों में से तीन एक ही परिवार के सदस्य थे. उन्होंने बताया कि अत्याधुनिक हथियारों से लैस हमलावरों का एक समूह ढोला-सादिया पुल के करीब इस गांव में आया और उन्होंने रात करीब आठ बजे पांच से छह लोगों को उनके घर से बाहर बुलाया.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि उन्होंने उन लोगों पर अंधाधुंध गोलियां चलाईं और फिर रात के अंधेरे में फरार हो गए. पुलिस को संदेह है कि बंदूकधारी उल्फा (इंडिपेंडेंट) उग्रवादी संगठन से जुड़े थे.

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने “मासूम लोगों की हत्या” की निंदा की और शोकसंतप्त परिवारों के प्रति संवेदनाएं प्रकट की. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, “इस कायरतापूर्ण हिंसा के अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. हम इस तरह की कायराना हरकत को बर्दाश्त नहीं करेंगे.” 

सोनोवाल ने कहा कि उन्होंने राज्य के मंत्रियों तपन गोगोई और केशव महंत को डीजीपी कुलाधार साइकिया के साथ मौके पर जाने के निर्देश दिए हैं. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने घटना पर दुख जताते हुए कहा कि इस घृणित अपराध के दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी. राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री सोनोवाल से बात करके हालात का जायजा लिया. 

पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई, विपक्षी पार्टी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रिपुन बोरा ने घटना की भर्त्सना की. इस बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक ट्विटर पोस्ट में सवाल किया कि कहीं यह हमला राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) से जुड़े घटनाक्रम से संबंधित तो नहीं था. उन्होंने ट्वीट किया, “क्या यह हालिया एनआरसी घटनाक्रम का परिणाम है.” 

ममता बनर्जी ने घटना की कड़ी निंदा करते हुए मृतकों के शोकाकुल परिवारों के प्रति सहानुभूति प्रकट की.

DO NOT MISS