Politics

राजस्थान: अशोक गहलोत और सचिन पायलट लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

कांग्रेस के संगठन महासचिव अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि राजस्थान के आगामी विधानसभा चुनाव में वह खुद और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट चुनावी मैदान में उतरेंगे. अशोक गहलोत ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रचारित किया जा रहा था कि कांग्रेस में फूट है, अंदरूनी कलह है, जबकि ऐसा कुछ भी नहीं है. कांग्रेस पूरी तरह एकजुट है.' 

अशोक गहलोत ने क्या कहा?

उन्होंने कहा, 'मैं और सचिन पायलट दोनों ही विधानसभा चुनाव लड़ेंगे.' इस मौके पर मौजूद सचिन पायलट ने भी कहा, 'राहुल गांधी के निर्देश और गहलोत जी के निवेदन पर मैं चुनाव लडूंगा. गहलोत जी भी चुनाव लड़ेंगे.'

बता दें, इससे पहले अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच मतभेद की खबरे आ रही थी. टिकट बंटवारे को लेकर दोनों में मतभेद की खबरे थी लेकिन अब कहा जा रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के हस्तक्षेप के कारण दोनों ही नेताओं में सुलह हो गई है.

दौसा के सांसद हरीश मीणा हुए कांग्रेस में शामिल:

वहीं राजस्थान विधानसभा चुनाव से कुछ हफ्ते पहले, बुधवार को भारतीय जनता पार्टी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए, दौसा के सांसद हरीश मीणा का कहना है कि कांग्रेस उनका घर है और वह अपने घर में वापस आए हैं. कांग्रेस के संगठन महासचिव अशोक गहलोत, पार्टी के प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने के बाद मीणा ने मीडिया से कहा 'मैं बिना किसी शर्त के, कांग्रेस में शामिल हुआ हूं. कांग्रेस मेरा घर है और मैं अपने घर में वापस आया हूं.' 

यह पूछे जाने पर कि, क्या पार्टी ने उन्हें टिकट का आश्वासन दिया है, उन्होंने कहा, 'मैं बिना शर्त पार्टी में आया हूं.' इससे पहले, मीणा का कांग्रेस में स्वागत करते हुए गहलोत ने कहा था, 'पूरे देश में कांग्रेस में शामिल होने के लिए लोगों की कतार लग गई. आज इसी क्रम में मीणा बिना किसी शर्त के, पार्टी में शामिल हुए हैं.' उन्होंने कहा कि मीणा के आने से राजस्थान में पार्टी मजबूत होगी.

इस मौके पर पायलट ने कहा कि मीणा का परिवार पुराना कांग्रेसी रहा है और उनके आने से पार्टी को ताकत मिलेगी. उन्होंने कहा, 'राजस्थान से वसुंधरा राजे सरकार की विदाई होने जा रही है. भाजपा कुछ भी कर ले, राजस्थान की जनता उसे सत्ता से हटाएगी.' गौरतलब है कि हरीश मीणा पूर्व आईपीएस अधिकारी हैं. संप्रग सरकार के दूसरे कार्यकाल में वित्त राज्य मंत्री रहे नमो नारायण मीणा हरीश मीणा के बड़े भाई हैं. अशोक गहलोत जब राजस्थान के मुख्यमंत्री थे उन दिनों हरीश मीणा राज्य के पुलिस महानिदेशक थे.

मीणा 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हुए थे. उन्होंने 2014 में भाजपा के टिकट पर दौसा से लोकसभा चुनाव लड़ा था. इस चुनाव में हरीश मीणा ने अपने भाई नमो नारायण मीणा को हराया था.  गौरतलब है कि राजस्थान विधानसभा की 200 सीटों के लिए सात दिसंबर को मतदान होगा.

DO NOT MISS