Politics

राहुल गांधी बोले- राफेल 'घोटाले' के कागजात इकट्ठा कर रहे थे CBI डायरेक्टर, इसलिए भेजा दिया छुट्टी पर...

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को आरोप लगाया कि सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा को जबरदस्ती छुट्टी पर भेज दिया गया क्योंकि वह राफेल घोटाले के कागजात इकट्ठा कर रहे थे. गौरतलब है कि सीबीआई निदेशक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच चल रही तकरार को लेकर, दोनों अधिकारियों से सारे अधिकार वापस ले लिए गए हैं

इससे पहले  कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि वर्मा को हटाकर मोदी सरकार ने सीबीआई की आजादी में ‘‘आखिरी कील’’ ठोंक दी है.

सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘सीबीआई को व्यवस्थित तरीके से खत्म करने और कमजोर करने का काम अब पूरा हो चुका है. कभी प्रतिष्ठित जांच एजेंसी रही, लेकिन अब पीएम सुनिश्चित कर रहे हैं कि सीबीआई की निष्ठा और विश्वसनीयता दफन और खत्म हो जाए.’’

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘राफेल घोटाले में भ्रष्टाचार की परतों की जांच करने की इच्छा के कारण सीबीआई निदेशक को बर्खास्त किया गया? क्या यह मामले को दबाने की कोशिश नहीं है? पीएम जवाब दें.’’

बहरहाल, केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इन आरोपों को ‘‘बकवास’’ करार दिया कि वर्मा को इसलिए हटाया गया क्योंकि वह राफेल करार की जांच करना चाह रहे थे.

उन्होंने कहा कि वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को हटाने का फैसला केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) की सिफारिशों पर आधारित है. पूर्व कानून मंत्री एम. वीरप्पा मोइली ने कहा कि सीबीआई निदेशक को हटाया जाना ‘‘अवैध, अनैतिक और असंवैधानिक’’ है.

कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया, ‘‘सरकार ने सीबीआई निदेशक को पद से क्यों हटा दिया और उनके दफ्तर को सील क्यों कर दिया? वे किसे बचा रहे हैं और किसे छुपा रहे हैं?’’ कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि लोकपाल कानून और जैन हवाला कांड में उच्चतम न्यायालय के फैसले के मुताबिक, सीबीआई निदेशक का कार्यकाल दो साल निर्धारित है.

तिवारी ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री, प्रधान न्यायाधीश और नेता प्रतिपक्ष या सबसे बड़े विपक्षी दल के नेता की सदस्यता वाली समिति की बैठक के बगैर सरकार सीबीआई निदेशक के कार्यकाल में कटौती नहीं कर सकती और न ही कोई अंतरिम उपाय कर सकती है.’’

सुरजेवाला ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘राफेल घोटाले की जांच से डर कर मोदी भारत की प्रतिष्ठित जांच एजेंसी की हत्या कर रहे हैं.’’

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘अधिकारियों को हटाया जा रहा है. फासीवाद कायम हो रहा है. इससे डूबती सल्तनत नहीं बचा सकते. मोदी जी, राफेल की जांच से आप इतना डर क्यों गए हैं?’’

कांग्रेस नेता ने सीबीआई के डीएसपी अजय बस्सी का तबादला पोर्ट ब्लेयर किए जाने को ‘‘निरंकुश मोदी जी द्वारा दी गई काला पानी की सजा’’ करार दिया.

(इनपुट- भाषा)

DO NOT MISS