Politics

अखिलेश को एयरपोर्ट पर रोके जाने पर गरमाई यूपी की सियासत,तो सीएम योगी ने दी ये सफाई

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को लखनऊ एयरपोर्ट पर रोके जाने के मामले में अब प्रदेश की राजनीति तेज हो गई है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने पूरे घटनाक्रम पर सफाई देते हुए कहा कि कानून व्यवस्था खराब होने की अशंका थी और इस पूर्व मुख्यमंत्री को अवगत कराया था.

योगी आदित्यनाथ ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी को अराजकता को रोकना चाहिए. इलाहाबाद विश्वविद्यालय ने पहले ही अनुरोध किया है कि अगर अखिलेश वहां आते हैं तो कानून और व्यवस्था की स्थिति हो सकती है. इसलिए सरकार ने यह कदम उठाया है.


 इससे पहले अखिलेश यादव ने आरोप लगाया था कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्र नेताओं के शपथ समारोह में शामिल नहीं होने देने के लक्ष्य से उन्हें लखनऊ के चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डे पर रोक दिया गया

अखिलेश यादव ट्वीट किया है, 'सरकार छात्र नेताओं के शपथ समारोह में मेरे जाने से डर गयी। इसलिये मुझे इलाहबाद जाने से रोकने के लिये हवाई अड्डे पर रोक दिया गया।' 

उन्होंने टि्वटर पर हवाईअड्डे से एक तस्वीर भी पोस्ट की है जिसमें वह पुलिस अधिकारियों से बात करते दिख रहे हैं।

इस संबंध में हवाईअड्डे के निदेशक ए. के. शर्मा से सवाल करने पर उन्होंने कहा कि इस बाबत उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

इस मुद्दे पर उत्तर प्रदेश विधानसभा और विधानपरिषद में भी जमकर हंगामा हुआ और क्रमश: 20 और 25 मिनट के लिये दोनों सदनों की कार्यवाही स्थगित कर दी गयी। सपा अध्यक्ष को हवाईअड्डे पर रोके जाने संबंधी उनके ट्वीट की सूचना सदन में पहुंचते ही पार्टी के सदस्यों ने इस मुद्दे को विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान उठाया।

 

DO NOT MISS