Politics

योगी और भगवानों की भी जाति बता देते तो हम भी अपनी जाति वाले भगवान से कुछ मांगते:अखिलेश

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

हनुमान को दलित बताने वाले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान पर तंज कसते हुये समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि अगर और भगवानों की भी जाति बता देते तो हम भी अपनी जाति वाले भगवान से कुछ मांगते .

यादव ने पत्रकारों से कहा,‘‘ अभी तो कुछ ही भगवानों की जाति बताई है और भगवानों की जाति बता दें तो अच्छा होगा . हम भी अपनी जाति वाले भगवान से कुछ मांगते .’’ 

गौरतलब है कि योगी ने हाल ही में राजस्थान के अलवर के मालाखेड़ा इलाके में एक चुनाव सभा को संबोधित करते हुये भगवान हनुमान को दलित बताया था . इस बयान के बाद विवाद छिड. गया था और विपक्षी दलों ने आरोप लगाया था कि भाजपा जाति आधारित राजनीति कर रही है .

यह भी पढ़ें - योगी की ‘निजाम’ वाली टिप्पणी फिर बरसे असदुद्दीन ओवैसी, बोले- मैं अपनी पंसद से भारतीय हूं...

अखिलेश से मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ. और राजस्थान के चुनाव परिणामों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ये नतीजे उत्साहवर्धक है . 

भविष्य में गठबंधन के बारे में उन्होंने कहा, 'इस समय मैं अपनी पार्टी को मजबूत करने में लगा हूं और यह तैयारी बूथ स्तर तक हो इसके लिये तैयारियां कर रहा हूं . सपा हमेशा सांप्रदायिक शक्तियों के खिलाफ है और हमारा उद्देश्य खुशहाल और समृद्धशाली भारत बनाने का है .' 

उन्होंने कहा,‘‘विधानसभा चुनाव के परिणाम आ चुके है, मैं छत्तीसगढ.,राजस्थान और मध्य प्रदेश के लोगों के जनादेश का स्वागत करता हूं और उन्हें धन्यवाद देता हूं . 

यह भी पढ़ें - CM योगी की अपील, 'हैदराबाद को ‘भाग्यनगर’ में बदलने के लिए BJP को वोट दें'

हालांकि सपा का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा, हम एक सीट मध्य प्रदेश में जीते है और कुछ जगह पर दूसरे नंबर पर आये है  .' उनसे जब इन चुनावों में नोटा वोटों के बारे में पूछा गया तो अखिलेश ने कहा 'मैं इस बारे में विस्तार से जाना नही चाहता हूं .' 

चुनाव में ईवीएम के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव के लिये सबसे बेहतर तरीका मतपत्र से मतदान होना है . ईवीएम पर भारत के अलावा अमेरिका में भी उंगलियां उठ चुकी है .’’
 

(इनपुट- भाषा)

DO NOT MISS