Politics

RSS पर जमकर बरसे ओवैसी, कहा- 'RSS की विचारधारा हिंदू राष्ट्रवाद की है'

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मीडिया से बात करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी पर तीखा हमला बोला है. कुछ महीने पहले जब पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल हुए थे उसी को लेकर असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर प्रणब मुखर्जी के द्वारा कार्यक्रम में जाने को लेकर सवाल खड़ा किया.

गुरुवार को जब ओवैसी से पूछा गया कि ऐसी खबरे हैं कि RSS ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अपने कार्यक्रम में भाग लेने के लिए कहा है तो इसका जवाब देते हुए ओवैसी ने कहा, ''आरएसएस की विचारधारा को समझने के बाद हमें उसके खिलाफ लड़ना चाहिए. अगर कोई फिर से वहां जाकर प्रणब मुखर्जी की मूर्खता और अपरिपक्वता को दोहराना चाहता है तो वो अपने आप पर ही सवाल खड़ा करेगा.''

इसके साथ ही उन्होंने कहा, ''RSS की विचारधारा हिंदू राष्ट्रवाद की है और इस देश के बहुसंख्यक लोगों को इंडियन नेशनलिज्म पर विश्वास करते हैं. अगर किसी को आरएसएस की विचारधारा को समझनी है तो उन्हें उनके दिग्गज नेताओं के किताबों को पढ़ना चाहिए. जहा तक मेरा सवाल है तो मैं RSS का हमेशा विरोध करता हूं.. मैं उनकी विचारधारा के खिलाफ हूं.''

बता दें, इसी साल जून में RSS ने संघ शिक्षा वर्ग के समापन समारोह में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को न्योता दिया था. जिसपर काफी बवाल भी मचा था. कांग्रेस पार्टी के कुछ नेताओं ने प्रणब मुखर्जी पर सवाल भी खड़े किए थे. विरोध के बाद भी प्रणब मुखर्जी नागपुर गए थे और वहां पर उन्होंने RSS के कार्यकर्ताओं को संबोधित भी किया था.

इसके साथ ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दिए बयान का भी पलटवार किया. बता दें, ''प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि हम रौशनी हैं और विपक्षी पार्टियां अंधेरा हैं और ये आप लोगों पर निर्भर करता है कि आप आने वाले चुनाव में किसे चुनते हैं..''

ओवैसी ने पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों को लेकर भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. ओवैसी ने कहा, पीएम मोदी ने युवाओं को नौकरी न देकर उनके भविष्य में अंधेरा पैदा किया है.

DO NOT MISS