Pic Credit- @BJP4Delhi/ Twitter
Pic Credit- @BJP4Delhi/ Twitter

Politics

BJP का 'भीम महासंगम': रामलीला मैदान में पकायी गयी 5000 किलोग्राम खिचड़ी, विश्व रिकार्ड पर नजर

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

राष्ट्रीय राजधानी के रामलीला मैदान में वृहद खिचड़ी उत्सव का आयोजन किया गया जिसमें 5,000 किलोग्राम खिचड़ी पकायी गयी और इसे ‘‘भीम महासंगम’’ में आये लोगों को बांटा गया .

भाजपा की दिल्ली इकाई ने इस महासंगम का आयोजन किया था जिसमें पिछड़े वर्ग के लोगों ने हिस्सा लिया .

भाजपा सांसद एवं दलित नेता उदित राज इस कार्यक्रम में अनुपस्थित रहे लेकिन पार्टी के नेताओं ने कहा कि उनकी अनुपस्थिति को गंभीरता से नहीं लिया जाना चाहिए .

पार्टी नेताओं ने दावा किया कि करीब 5,000 किलोग्राम खिचड़ी तैयार की गयी और इस मौके पर वितरित किया गया . खिचड़ी पकाने वालों में शामिल एक रसोइए ने बताया कि खिचड़ी तैयार करने में 400 किलो चावल, 100 किलो मसूर की दाल, 350 किलो सब्जियां, 100 किलो देशी घी, 100 लीटर तेल, 2,500 लीटर पानी और 250 किलो मसाले का उपयोग किया गया .

पार्टी नेताओं के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में करीब तीन लाख दलितों के घरों से एकत्र किए गए चावल और मसूर की दाल से एक विशाल बर्तन में 5000 किलो ‘‘समरसता खिचड़ी’’ पकाई गयी .

यह कवायद विश्व रिकार्ड बनाने के लिए की गयी .

नागपुर के शेफ विष्णु मनोहर ने इससे पहले एक पात्र में 3,000 किलो खिचड़ी पकाने का विश्व रिकार्ड नागपुर में बनाया था . उस वक्त भी खिचड़ी को एक एकल पात्र में तैयार किया गया था .

उन्होंने कहा, ‘‘मैं चाहता हूं कि खिचड़ी को भारत का राष्ट्रीय भोजन घोषित किया जाये . प्रत्येक देश का अपना पकवान होता है . चीन का सुशी और इटली का पिज्जा है लेकिन भारत का कोई पकवान नहीं है .’’

उन्होंने बताया, ‘‘मैं दिल्ली आया हूं ताकि यहां केंद्र सरकार तक मेरी बात पहुंचे . देश के 80 फीसदी घरों में शाम का खाना खिचड़ी होता है . रईस लोग भी इसे खाते हैं क्योंकि वह तैलीय चीज नहीं खाना चाहते . वहीं गरीब लोग भी इसे खाते हैं .’’

दिल्ली भाजपा की अनुसूचित जाति मोर्चे के अध्यक्ष मोहन लाल गिहारा ने बताया कि रामलीला मैदान में एकत्र हुए तकरीबन 25,000 लोगों को खिचड़ी वितरित की गयी .

उन्होंने बताया, ‘‘गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड्स के प्रतिनिधि यहां मौजूद थे और 5,000 किलोग्राम खिचड़ी पकायी गयी जिसे 25,000 लोगों ने खाया .’’

रामलीला मैदान जय भीम, जय हिंद और भारत माता की जय के नारों से गूंज रहा था .

भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने बताया कि इस आयोजन ने राजनीतिक दलों को विभाजनकारी राजनीति लिप्त नहीं होने का संदेश दिया बल्कि एकता का प्रचार किया .

DO NOT MISS