Politics

लोकसभा में हंगामा कर रहे AIADMK और TDP के 19 सदस्य इतने दिन के लिए हुए सस्पेंड

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

लोकसभा में कावेरी बांध मुद्दे पर हंगामा कर रहे अन्नाद्रमुक (AIADMK) और आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर नारेबाजी कर रहे तेलुगू देशम पार्टी (TDP) के कुल 19 सदस्यों को स्पीकर सुमित्रा महाजन ने गुरुवार को सदन से चार कामकाजी दिवस के लिए निलंबित कर दिया,

लोकसभा अध्यक्ष ने चेतावनी के बावजूद सदस्यों का हंगामा नहीं थमने पर कहा कि जानबूझकर सदन में आसन के पास आकर और नियमों का उल्लंघन करते हुए कार्यवाही में बाधा डालने के लिए सदस्यों को नियम 374A के तहत सदन की कार्यवाही से चार कामकाजी दिनों के लिए निलंबित किया जाता है.

एक बार के स्थगन के बाद जब सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे शुरू हुई तो AIADMK के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के निकट पहुंच गए. इस दौरान इनमें से कुछ सदस्य कागज के टुकड़े उछालने लगे.

लोकसभा अध्यक्ष ने हंगामा कर रहे सदस्यों को चेतावनी दी कि वे अपने स्थान पर जाएं, नहीं तो ‘मैं नेम करूंगी.’ हंगामे के बीच संसदीय कार्य मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि सदन की मर्यादा भंग की जा रही है. राफेल मामले पर और देश के मुद्दों पर चर्चा होनी है. सदस्यों से आग्रह है कि अपने स्थान पर जाएं.

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के दोबारा चेतावनी देने के बाद भी स्थिति ज्यों की त्यों बनी रही और कुछ सदस्य कागज के टुकड़े फेंकते रहे.

इसके बाद स्पीकर ने अन्नाद्रमुक और तेदेपा के 19 सदस्यों को चार कामकाजी दिनों के लिए सदन से निलंबित कर दिया. लोकसभा की कार्यवाही का अंतिम दिन 8 जनवरी है. इस तरह उक्त सदस्य सत्र के शेष हिस्से में भाग नहीं ले सकेंगे.

गौरतलब है कि कावेरी मुद्दे पर हंगामा कर रहे AIADMK के 24 सदस्यों को बुधवार को पांच कामकाजी दिनों के लिए निलंबित किया गया था. इन सदस्यों में के अशोक कुमार, आर के भारती मोहन, एम चंद्रकाशी, एस जी हरि, जय कुमार जयवर्द्धन, के परसुरामन, के कामराज, पी कुमार, एम वसंती, सी महेन्द्रन, के मगर्थन, पी नागराजन, आर पारथीपन, के आर पी प्रभाकरण, ए अनवर रजा, टी राधाकृष्णन, एस राजेन्द्रन, वी सत्यभामा, एस सेल्वकुमार, पी आर सुंदरम, एम उदयकुमार, वी येदुमलाई, आर वनरोजा और टी जी वेंकटेश बाबू शामिल हैं. लोकसभा में AIADMK के 37 सदस्य हैं.

इसे भी पढ़ें- राहुल गांधी पर अरुण जेटली का करारा वार, कहा - 'आपातकाल की तानाशान' का पोता ने दिखाया अपना असली DNA

गौरतलब है कि संसद के शीतकालीन सत्र की 11 दिसंबर को शुरूआत के बाद से ही AIADMK सदस्य कावेरी नदी पर बांध के निर्माण का विरोध कर रहे हैं और तेदेपा के सदस्य आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य की दर्जे की मांग को लेकर हंगामा कर रहे हैं.

DO NOT MISS