Credit- PTI
Credit- PTI

Law and Order

विवेक तिवारी हत्याकांड: आरोपी के समर्थन में पुलिसकर्मियों ने किया ‘काली पट्टी बांधकर काम’, देखें वीडियो...

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पिछले हफ्ते एक बहुराष्ट्रीय कम्पनी के अधिकारी की हत्या के आरोपी सिपाही के समर्थन में कुछ पुलिसकर्मियों द्वारा कथित रूप से काली पट्टी बांधकर काम करने की खबरों की वास्तविकता की जांच के आदेश दिये गये हैं.

प्रदेश पुलिस के प्रवक्ता ने यहां एक बयान में कहा कि सोशल मीडिया के माध्यम से कुछ स्थानों से पुलिसकर्मियों द्वारा कथित तौर पर काली पट्टी बांधकर काम किये जाने की खबरें मिली हैं. उन पुलिसकर्मियों द्वारा काली पट्टी बांधे जाने की सचाई, समय और उद्देश्य के बारे में विस्तृत छानबीन के आदेश दिये गये हैं.

उन्होंने कहा कि पिछले दो दिनों के दौरान ऐसा देखा गया कि पुलिस बल का माहौल खराब करने के लिये कुछ तस्वीरों को गढ़ करके उन्हें सोशल मीडिया पर पेश किया गया है. इस मामले में पूर्व में पुलिस सेवा से बर्खास्त किए गये बृजेन्द्र यादव और अविनाश पाठक को क्रमशः वाराणसी और मिर्जापुर से गिरफ्तार किया गया है. सोशल मीडिया पर पैनी नजर रखी जा रही है और जांच में दोषी पाये जाने वाले तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

पुलिस उप महानिरीक्षक (कानून-व्यवस्था) प्रवीण कुमार ने बताया कि एटा जिले में तैनात कांस्टेबल सर्वेश चौधरी ने फेसबुक पर आपत्तिजनक वीडियो अपलोड किया था. इस पर तत्परता से कार्रवाई करते हुए उसे गुरुवार को निलम्बित करके विभागीय कार्यवाही की जा रही है.

विवेक तिवारी हत्याकांड के आरोपी पुलिसकर्मियों के समर्थन में कुछ पुलिसकर्मियों द्वारा काली पट्टी बांधकर काम करने की योजना के बारे में पूछे जाने पर कुमार ने बताया कि कुछ लोग अफवाह फैला रहे हैं. हमने इसे बहुत गम्भीरता से लिया है.

उन्होंने कहा कि हमारी टीम ने पहले से ही इस मामले को सर्विलांस पर ले रखा है, उसमें पाया गया है कि कुछ बर्खास्त पुलिसकर्मी इस तरह की बातें कर रहे हैं. हमने इस मामले में लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली में अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है. विवेचना के दौरान सभी पहलुओं पर विचार किया जाएगा. दोषी तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

मालूम हो कि पिछले शनिवार को गोमतीनगर विस्तार क्षेत्र में हुए विवेक तिवारी हत्याकाण्ड के आरोपी पुलिसकर्मियों प्रशांत चौधरी और संदीप कुमार का कुछ पुलिसकर्मियों द्वारा समर्थन किये जाने की खबरें आ रही हैं. आरोपी प्रशांत की मदद के लिये पुलिसकर्मियों द्वारा चंदा एकत्र किये जाने की चर्चाएं भी जोरों पर हैं.

(इनपुट- भाषा)

DO NOT MISS