Law and Order

चिन्मयानंद केस में बड़ी कार्रवाई, यूपी SIT ने कथित तौर पर फिरौती मांगने वाली लॉ छात्रा को किया गिरफ्तार

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद से पांच करोड़ रुपये की वसूली मांगने के मामले में लॉ की छात्रा को यूपी एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया है। छात्रा को करीब 9:30 बजे उसके घर से गिरफ्तार किया गया। 

इस बारे में जानकारी देते हुए उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कहा कि  स्वामी चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली लॉ स्टूडेंट को SIT (स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम) ने कथित तौर पर उससे पैसे ऐंठने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

इससे पहले छात्रा ने कल उच्च न्यायालय में प्रार्थना की थी कि उसकी गिरफ्तारी पर रोक लगाई जाए। इस पर न्यायमूर्ति मनोज मिश्रा और न्यायमूर्ति मंजू रानी चौहान की पीठ ने गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था और कहा था कि लड़की अगर राहत चाहती है तो वह उचित पीठ के समक्ष नई याचिका दायर कर सकती है ।

वहीं स्वामी चिन्मयानंद से पांच करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने के मामले में एसआईटी ने विक्रम, सचिन तथा संजय को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसी मामले में जिस मोबाइल से चिन्मयानंद को व्हाट्सएप पर मैसेज भेजा गया था, उस मोबाइल को विक्रम और सचिन ने राजस्थान में झाड़ियों में फेंक दिया था। आज इसी मामले में एसआईटी विक्रम और सचिन को रिमांड पर लेकर मोबाइल का पता लगाने जयपुर गई है ।

इससे पहले मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने चिन्मयानंद की जमानत अर्जी नामंजूर कर दी थी। चिन्मयानंद को विधि छात्रा द्वारा बलात्कार का आरोप लगाए जाने के बाद एसआईटी ने गिरफ्तार किया था।

अदालत ने यह भी कहा था कि पीठ इस मामले में केवल जांच की निगरानी करने के लिए नामित की गई है और गिरफ्तारी के मामले में कोई आदेश पारित करना उसके अधिकार क्षेत्र में नहीं है।

DO NOT MISS