Law and Order

शर्मनाक तस्वीरें: AMU कैंपस में रिपब्लिक टीवी की महिला रिपोर्टर के साथ बदसलूकी, हमला कर तोड़े कैमरे

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में बेहद ही चौंका देने वाला वाकया सामने आया है। मंगलवार को AMU परिसर में डीन के कार्यालय के ठीक सामने रिपब्लिक टीवी के क्रू पर विश्वविद्यालय के छात्रों ने हमला कर दिया। ये घटना वाकई शर्मनाक और वीभत्स है।

यह हमला उस समय हुआ जब रिपब्लिक टीवी की नलिनी शर्मा और सुमैरा खान यूपी के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कैंपस में रिपोर्टिंग कर रही थीं, जहां AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी मंगलवार को आने वाले हैं। इस बीच छात्रों ने गुंडागर्दी करते हुए रिपब्लिक टीवी के कैमरे को छीन लिया और नुकसान भी पहुंचाया।

हमले के वीडियो में स्पष्ट रूप से विश्वविद्यालय के सुरक्षा कर्मचारियों को रिपब्लिक टीवी के क्रू से उपकरण लेने की कोशिश करते हुए देखा जा सकता है। ये सुरक्षा कर्मचारी साफ तौर पर रिपोर्टिंग में बाधा डालते हुए दिखाई दे रहा है, इतना ही नहीं तस्वीरों में ये भी देखा जा सकता है कि ये कर्मचारी रिपब्लिक टीवी की महिला पत्रकारों से बदसलूकी करता दिखाई दे रहा है।

इस दौरान रिपब्लिक टीवी के क्रू के आसपास एक बड़ी भीड़ जमा हो गई थी, जिसके थोड़ी देर बाद पुलिस पहुंची। हालांकि, पुलिस के मौजूद होने के बावजूद, स्टाफ और छात्रों ने रिपब्लिक टीवी के का पीछा किया, उपकरण छीन लिए और उसे तोड़ दिया। इस घटना के वक्त उन्होंने कई अन्य पत्रकारों पर भी हमला किया।

यह एक लाइव प्रसारण में व्यवधान डालने वाले अधिकारियों के साथ शुरू हुआ, जो यह जानने की मांग कर रहा था कि रिपोर्टिंग के जरिए क्या कहानी बताई जा रही है। और फिर उपकरण छीनने की कोशिश किया। इस मौके पर स्टाफ और छात्र करीब सौ से अधिक की संख्या में मौजूद थे। भीड़ पर लगाम लगाने के बजाय पुलिस ने अपने हाथ खड़े कर लिए। पुलिस ने हमलावरों पर नकेल भी नहीं कसा और रिपब्लिक टीवी के टीम को बाहर भेजने के जिद पर अड़ गए। जैसे ही रिपब्लिक टीवी के क्रू, रिपोर्टर और कैमरा परसन कैंपस के बाहर जाने लगे। छात्रों के एक भीड़ ने हमला करते हुए रिपब्लिक टीवी की टीम से सभी उपकरण और कैमरे छीन लिए और उसे बर्बाद कर दिया।

हमले के दौरान, बदसलूकी करने वाले कर्मचारी-सदस्य को कैमरे पर लगातार यह कहते हुए देखा जा सकता है कि वह अपने हमले को सही ठहरा रहा है। इस हमलवे एक पुलिस कर्मी जो वहां मौजूद था, उसने तुरंत वहां कोई कार्रवाई नहीं की, बल्कि एक मामले को को सुलझाने की कोशिश कर रहा था। जहां रिपब्लिक टीवी के क्रू को डराया और धमकाया गया। और इसके बाद हमला भी किया गया।

हमले के बाद रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए, अलीगढ़ के एसएसपी, आकाश कुलहरि ने कहा: "हम इस बात से इनकार नहीं करते हैं कि घटना हुई है। हम कानून के तहत हर संभव कार्रवाई करेंगे। बदमाशों के चेहरे कैमरे में कैद कर लिए गए हैं। मैंने कहा है कि एफआईआर दर्ज की जानी चाहिए।”

DO NOT MISS