Law and Order

सबरीमाला में महिलाओं के प्रवेश पर विवादित बयान, मलयालम एक्टर के खिलाफ मामला दर्ज

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

केरल पुलिस ने सबरीमाला मंदिर मुद्दे को लेकर राजग की एक विरोध बैठक के दौरान महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर मलयाली अभिनेता कोल्लम थुलासी के खिलाफ एक मामला दर्ज किया है .पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी. 

कोल्लम में शुक्रवार को प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुये भाजपा के समर्थक थुलासी ने कथित तौर पर कहा था कि, ‘‘भगवान अय्यपा के मंदिर आने वाली, प्रतिबंधित उम्र समूह की महिलाओं को चीर देना चाहिए. ’’ 

अभिनेता तलसीधरन नायर ने बयान दिया था कि सबरीमाला मंदिर जाने वाली महिलाओं के दो टुकड़े कर देने चाहिए और उन टुकड़ों में से एक को दिल्ली भेज देना चाहिए और दूसरे को मुख्यमंत्री कार्यालय के बाहर फेंक देना चाहिए. 

कोल्लम तुलसी के नाम से मशहूर अभिनेता ने बीजेपी द्वारा आयोजित मार्च में महिलाओं के दो टुकड़े करने की बात कही थी. बीजेपी द्वारा आयोजित मार्च सुप्रिम कोर्ट के उस फैसले के खिलाफ निकाला गया था जिसमें हर उम्र की महिलाओं को सबरीमाला मंदिर में जाने की अनुमति दी गई थी.  

थुलासी के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत शनिवार को एक मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने बताया कि अभिनेता के खिलाफ स्थानीय डीवाईएफआई नेता रतीश की एक शिकायत आधार पर मामला दर्ज किया गया .

अपनी टिप्पणी के लिए आलोचनाओं का सामना कर रहे अभिनेता ने बाद में खेद जताते हुए दावा किया था कि वह भावनाओं में बह गये थे.

सबरीमला मंदिर में सभी उम्रों की महिलाओं को प्रवेश देने के उच्चतम न्यायालय के फैसले पर एक पुनरीक्षण याचिका नहीं दायर करने के एलडीएफ सरकार के निर्णय के खिलाफ भाजपा की अगुवाई वाली राजग ने विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया था। न्यायालय ने 10 से 50 साल की उम्र के बीच की महिलाओं के सबरीमला मंदिर में प्रवेश पर लगाया गया प्रतिबंध हटा दिया है.

यह भी पढ़े - सबरीमला मंदिर के तंत्री ने कहा : सरकार के साथ बातचीत का कोई मतलब नहीं, प्रदर्शन जारी

गत 28 सितंबर को प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने 10-50 साल के उम्र की महिलाओं के मंदिर में प्रवेश पर लगे प्रतिबंध को हटा दिया था .

( इनपुट - भाषा के साथ )

DO NOT MISS