Law and Order

केरल नन रेप केस मामले में बिशप की गिरफ्तारी के बाद, पुलिस कोर्ट से मांग सकती है तीन दिन की कस्टडी

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

केरल नन रेप केस मामले में पुलिस ने बिशप फ्रैंको मुलक्कल को गिरफ्तार कर लिया है. रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस कोर्ट से बिशप फ्रैंको मुलक्कल की तीन दिन की कस्टडी मांग सकती है. बिशप की गिरफ्तारी को बाद ननों के द्वारा किए जा रहे विरोध प्रदर्शन को शनिवार को समाप्त कर लिया जाएगा. वहीं बिशप की गिरफ्तारी को लेकर कोट्टयम के SP हरिशंकर ने बताया है कि 'इस मामले को जांच कर रहे ऑफिसर ने पाया है कि बिशप ने इस अपराध को किया है. इम इस मामले में अभी और कुछ नहीं बोल सकते हैं क्योंकि पूरा मामला कोर्ट में है. हम सभी तथ्यों की जांच पड़ताल करने के बाद किसी नतीजे पर पहुंचेंगे.'

वहीं कैथोलिक बिशप कमीशन ऑफ इंडिया ने बिशप फ्रैंको की गिरफ्तारी की निंदा की है. उन्होंने कहा है कि ये दुखद क्षण है.

गौरतलबल है कि शिकायत दर्ज होने के 87 दिनों के बाद रेप के आरोपी बिशप शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया था. बिशप को पुलिस के द्वारा लगातार तीन दिनों तब पूछताछ करने के बाद गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तारी के तुरंत बाद बिशप को तालुक अस्पताल ले जाया गया जहां पर उनका मेडिकल चेकअप​​​​​​​ किया गया.

सूत्रों के मुताबिक बिशप ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को सिरे से नकार दिया है. पुछताछ के दौरान पुलिस ने बिशप से कहा था कि आप सभी प्रश्नों का विस्तार से जवाब दें.. जिसपर बिशप ने कहा था कि उसे सबकुछ सही-सही मालूम नहीं है. बता दें, बिशप ने केरल हाईकोर्ट में एंटीसिपेटरी बेल भी दायर की है जिसपर 25 सितंबर को सुनवाई होगी. 

बता दें, बिशप फ्रैंको मुलक्कल पर आरोप लगे हैं कि उन्होंने पंजाब के असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर से फोन करवा कर रेप पीड़िता को डराने की कोशिश की थी. इस टेप को रिपब्लिक टीवी ने दिखाया था जिसमें साफतौर पर ASI अमरीक सिंह नन को डराने का प्रयास कर रहे थे. 

वहीं इस पूरे मामले पर आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल ने कहा था कि, ''मुझे ये लग रहा है कि जो लोग चर्च के खिलाफ हैं वो लोग ये मुद्दा उठा रहे हैं.. ये एक साजिश है.. लोग इसका फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं..जो भी लीगल मेटर होगा उसका मैं सहयोग करूंगा. ''

DO NOT MISS