Law and Order

पोंजी घोटाला मामले में कर्नाटक के पूर्व मंत्री जनार्दन रेड्डी गिरफ्तार

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

कर्नाटक के पूर्व मंत्री एवं खनन उद्योगपति जी जनार्दन रेड्डी को पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार कर लिया. इससे पहले पुलिस ने पोंजी घोटाला मामले में रेड्डी से काफी लंबी पूछताछ की थी. अतिरिक्त पुलिस आयुक्त आलोक कुमार ने इसकी जानकारी दी है. कुमार ने बताया कि रेड्डी शनिवार को केंद्रीय अपराध शाखा (सीसीबी) के कार्यालय पहुंचे थे. रविवार की सुबह पूछताछ समाप्त होने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. उन्होंने बताया कि सीसीबी ने इस मामले में रेड्डी के विश्वस्त सहायोगी अली खान को भी गिरफ्तार किया है.

कथित तौर पर फरार चल रहे रेड्डी अपने वकील के साथ पुलिस के समक्ष पेश हुए थे. उन्होंने दावा किया कि उनके खिलाफ जो आरोप लगाए गए हैं वह ‘‘राजनीतिक साजिश’’ का हिस्सा हैं. करोड़ों रुपए के लेन देन के मामले में सीसीबी पुलिस को बुधवार से ही रेड्डी की तलाश थी. यह लेन देन कथित रूप से एक पोंजी योजना से संबंधित है.

बता दें, पुलिस पोंजी स्कैम में आरोपी जनार्दन रेड्डी का मेडिकल कराने के लिए अस्पताल ले गई है. रेड्डी पर CCB के द्वारा Section 204, आपराधिक षड्यंत्र रचने के लिए Section 120 (b) और फर्जीवाड़ा करने के लिए Section 420 के तहत केस दर्ज किया है. वहीं CCB के अधिकारी आलोक कुमार ने बताया है कि जनार्दन रेड्डी से हम सभी पैसों को वसूल करके इन्वेस्टर्स को देंगे.

सीसीबी को खान की भी तलाश थी. खान ने  ऐम्बिडेंट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड के सैयद अहमद फरीद को प्रवर्तन निदेशालय की जांच से बचाने के लिए उसके साथ 20 करोड़ रुपए का कथित रूप से सौदा किया था. फरीद की कंपनी ऐम्बिडेंट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड पोंजी योजना में कथित रूप से शामिल थी. बता दें, पोंजी घोटाला में करीब 500 करोड़ रुपए के गबन की बात कही जा रही है.

इससे पहले रिपब्लिक टीवी ने जनार्दन रेड्डी का एक वीडियो आपको दिखाया था जिसमें रेड्डी कह रहा था कि 15-20 दिनों से मेरे घर का माहौल बेहद खराब हो गया है. हर कोई परेशानी से जूझ रहा है. 'मैं भागा नहीं हूं'

DO NOT MISS