General News

भारत आईसीजे के आदेश को पूरी तरह से लागू कराने की कोशिश करेगा : विदेश मंत्रालय

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

पाकिस्तान की ओर से कुलभूषण जाधव से भारतीय राजनयिक अधिकारियों को दोबारा मिलने देने की इजाज़त नहीं देने की घोषणा के कुछ घंटों बाद भारत ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह इस मामले में अंतरराष्ट्रीय अदालत (आईसीजे) के फैसले को पूरी तरह से लागू करने की कोशिश करता रहेगा।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत इस मुद्दे पर राजनयिक माध्यमों के जरिये इस्लामाबाद से संपर्क में बना रहेगा।

उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘ आदेश हमारे पक्ष में था। हम पाकिस्तान से लगातार कह रहे हैं कि आईसीजे के आदेश को पूरी तरह से लागू किया जाए। हमने उनका बयान सुना है। हम अब भी आईसीजे के आदेश को पूरी तरह से लागू कराने की कोशिश करेंगे।’’

उनसे पाकिस्तान की इस घोषणा पर टिप्प्णी करने को कहा गया था कि वह जाधव को दोबारा राजनयिक पहुंच नहीं देगा। बता दें कि इसी महीने की 2 तारीख को भारतीय नागरिक जाधव से पाकिस्तान में भारतीय राजनयिक गौरव आहलूवालिया ने अज्ञात जगह पर मुलाकात की थी।

इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग में उपराजदूत गौरव अहलूवालिया ने दो सितंबर को जाधव से मुलाकात की थी। इससे पहले पाकिस्तान ने आईसीजे के आदेश के मुताबिक, भारतीय नौसेना के सेवानिवृत्त अधिकारी से राजनयिकों को मिलने की इजाजत दे दी थी।

मुलाकात के बाद, विदेश मंत्रालय ने कहा था कि जाधव पाकिस्तान के अपुष्ट दावों को बनाए रखने के लिए गलतबयानी करने के भीषण दबाव में दिखे। सूत्रों ने बताया कि सरकार को इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायुक्त से जाधव से मुलाकात के बारे में विस्तृत रिपोर्ट मिल गई है।

यह भी पढ़े - कुलभूषण जाधव से डिप्टी हाईकमीश्नर गौरव अहलूवालिया मिले, इस्लामाबाद में अज्ञात जगह पर हुई मुलाकात

जानकारी के अनुसार पाक अधिकारियों ने जाधव के साथ भारतीय राजनयिक की पहली के दौरान काफी दुर्व्यवहार किया था।  पाकिस्तान की जेल में 3 साल से अधिक से बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की मुलाकाता भारतीय राजनयिकं से हुई।  यह मुलाकात एक सबजेल में कराई गई और निर्धारित समय से एक घंटे की देरी से अधिकारियों को उनसे मिलने दिया गया।

(इनपुट-भाषा से भी)

 

DO NOT MISS