General News

वारिस पठान के बयान पर बरसी BJP, "तथाकथित ‘लिबरल’ को कौन सी आजादी चाहिए, किससे आजादी चाहिए?"

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

भाजपा ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि एआईएमआईएम नेता वारिस पठान का विवादास्पद बयान यह दर्शाता है कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के विरोध के नाम पर साजिश और घृणा की राजनीति चल रही है। भाजपा ने ऐसे बयानों पर कानून का विरोध करने वाले ‘उदारवादियों की चुप्पी’ पर भी सवाल उठाये ।

खबरों के अनुसार, दक्षिण कर्नाटक में सीएए के विरोध में 16 फरवरी को आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए एआईएमआईएम नेता ने कहा था कि 15 करोड़, 100 करोड़ पर भारी पड़ेंगे।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ सीएए के विरोध में पूरे देश में जिस प्रकार की घृणा की राजनीति कुछ लोग जो कर रहे हैं उसका उदाहरण आज हम लेकर आए हैं।’’ एआईएमआईएम नेता के बयान का जिक्र करते हुए पात्रा ने कहा कि अगर भाजपा के नेता ने ऐसा कोई बयान दे दिया होता तो आज सारे तथाकथित ‘लिबरल’ सड़क पर उतर जाते, पूरे देश में कोहराम मचा देते। उन्होंने कहा कि लेकिन आज एक भी सामने नहीं आ रहा है, एक भी सवाल नहीं पूछ रहा है।

उन्होंने कहा कि ओवैसी की पार्टी के कद्दावर नेता वारिस पठान कहते हैं कि हम छीन कर लेंगे आजादी। पात्रा ने कहा, ‘‘ मैं इन तथाकथित लिबरल से पूछना चाहता हूं कि कौन सी आजादी चाहिए, किससे आजादी चाहिए?’’ भाजपा प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि जब मंच के पीछे पाकिस्तान को ऑक्सीजन देने की बात होती है और मंच के आगे संविधान, तिरंगा पकड़ने का नाटक किया जाता है तो कभी-कभी हकीकत मुंह से निकल जाती है। उन्होंने कहा कि ऐसे में ही कल ओवैसी के मंच पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे हैं।

पात्रा ने कहा कि ये सारे लोग हमारे मुस्लिम भाइयों को बरगला रहे हैं, भ्रमित कर रहे हैं।
 

DO NOT MISS