General News

भारत को कारोबार सुगमता रैंकिंग में अगले साल ‘शीर्ष 50’ में पहुंचाने का लक्ष्य: मोदी

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि भारत कारोबार सुगमता के मामले में अगले साल तक शीर्ष 50 देशों में शामिल होने का लक्ष्य लेकर आगे बढ़ रहा है.

विश्वबैंक की कारोबार सुगमता रैंकिंग की नवीनतम रिपोर्ट में भारत ने 75 स्थानों की छलांग लगाते हुए 77वां स्थान हासिल किया है.

वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन के नौवें संस्करण के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘मैंने अपनी टीम से कड़ा परिश्रम करने को कहा है ताकि देश को अगले साल कारोबार सुगमता के मामले में शीर्ष 50 देशों की सूची में स्थान दिलाया जा सके.’’

PM मोदी ने कहा कि उनकी सरकार का ध्यान उन बाधाओं को हटाने पर है जो देश को उसकी क्षमताओं के हिसाब से प्रदर्शन करने से रोक रही हैं. हम सुधारों और नियमों को सरल बनाने की प्रक्रिया जारी रखेंगे .

इसे भी पढ़ें - सामान्य वर्ग के गरीबों को आरक्षण मेरी सरकार की राजनीतिक इच्छा का नतीजा : PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ‘सुधार, प्रदर्शन, बदलाव और बेहतर प्रदर्शन’ के मंत्र पर काम करते हुए ‘न्यूनतम सरकार - बेहतर शासन’ का लक्ष्य लेकर काम कर रही है.

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले चार साल में देश की औसत सालाना जीडीपी वृद्धि 7.3 प्रतिशत रही है, जो 1991 के बाद से सर्वाधिक है.

गौरतलब है कि वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन की अवधारणा पीएम मोदी ने 2003 में की थी. उस समय वह राज्य के मुख्यमंत्री थे. इसके पीछे उनका लक्ष्य राज्य को देश का प्रमुख निवेश स्थान बनाना था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के ही एक रैली में कहा था कि सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए शिक्षण संस्थानों और सरकारी सेवाओं में 10% आरक्षण का प्रावधान किया गया है. केंद्र सरकार सहित कई राज्यों ने इसे लागू करने के आदेश जारी किए हैं. देश के 40,000 कॉलेजों और 900 विश्वविद्यालयों में ये आरक्षण नए सत्र से लागू हो जाएगा.

DO NOT MISS