General News

राम मंदिर के लिए कानून लाने की मांग पर VHP करेगी रैलियां

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

विश्व हिंदू परिषद (VHP) अयोध्या में राममंदिर निर्माण के लिए एक कानून की मांग को लेकर सरकार से आग्रह करने और राजनीतिक दलों पर दबाव बनाने के मकसद से सभी संसदीय क्षेत्रों में सार्वजनिक रैलियां करेगी. इस बात की जानकारी शनिवार को विश्व हिंदू परिसद के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने दी. आलोक कुमार ने फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या करने के उत्तर प्रदेश सरकार के फैसले की तारीफ की और इसे राष्ट्रीय गौरव से जोड़ा.

उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली में किंग्स रोड, क्वींस रोड था और एक हार्डिंग ब्रिज था. उसका नाम तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने बदलकर राजपथ, जनपथ और तिलक ब्रिज कर दिया. पुराने नामों को फिर से बहाल करना या भारत पर हमले करने वाले लोगों के नाम पर स्थानों के नाम बदलना राष्ट्रीय गौरव बहाल करने के लिए अच्छी बात है.’’ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को फैजाबाद में एक जनसभा में घोषणा की थी कि फैजाबाद का नाम अयोध्या किया जाएगा.

इस दौरान आलोक कुमार ने कहा कि वो धार्मिक और सामाजिक नेताओं से मिल रहे हैं जो अपने राज्यों के राज्यपालों से मिलकर उनसे कह रहे हैं कि लोग अयोध्या में राममंदिर चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि राज्यपालों ने हमें भरोसा दिया है कि वे इस बात को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री तक पहुंचाएंगे. साथ ही आलोक कुमार ने कहा, ‘‘हम सभी संसदीय क्षेत्रों में सार्वजनिक रैलियां करेंगे और सभी सांसदों से मिलेंगे और उन पर इसका दबाव बनाएंगे कि वे राम मंदिर पर कानून का समर्थन करें. हम पहली तीन सार्वजनिक रैलियां 25 नवंबर को नागपुर, अयोध्या और बैंगलुरू में करने जा रहे हैं. इसका समापन 9 दिसंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में एक बड़ी सार्वजनिक रैली में रूप में होगा.’’ 

उन्होंने कहा कि इन घटनाक्रमों के बारे में 31 जनवरी को इलाहाबाद में होने वाली ‘धर्मसंसद’ को अवगत कराया जाएगा और वहां आगे के कदम पर फैसला किया जाएगा.

उन्होंने कहा, ‘‘हम उम्मीद करते हैं कि इन सार्वजनिक रैलियों से सरकार को एक विधेयक लाने में मदद मिलेगी. साथ ही अन्य दलों पर इसके लिए दबाव बनाने में आसानी होगी. जिससे वो उसका समर्थन करेंगे या कम से कम उसका विरोध नहीं करेंगे.’’ 

DO NOT MISS