General News

बड़ी ख़बर: सीएम योगी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, बोले- कांग्रेस का घोषणा पत्र झूठ का पुलिंदा

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

कांग्रेस ने मंगलवार को अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में कई लोकलुभावन वादे ने किए हैं। वहीं देशद्रोह कानून, जम्मू कश्मीर में अस्पा जैसे मुद्दों पर अपने स्टैंड को लेकर कांग्रेस विवादों में आ गई है। जिसके बाद से ही राहुल गांधी की पार्टी की तीखी आलोचना हो रही है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस के घोषणा पत्र को झूठ का पुलिंदा बताया है। 

उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि इस देश के अंदर 55 वर्षों के अंदर कांग्रेस पार्टी ने शासन किया है और अपने शासन काल के दौरान कांग्रेस की सरकारें गरीबी हटाओ का नारा जरूर देती थी। इन नारों से देश की गरीबी दूर करने के लिए जिस प्रकार की कार्य योजना बनानी चाहिए थी, कार्यपद्धति बनानी चाहिए थी। उसका अभाव कांग्रेस की सरकारों में देखने को मिला है। इसलिए आज 2019  जब 55 साल बनाम 55 महीनें का ब्यौरा जनता के सामने आ रहा है या 60 साल बनाम 60 महीनों का ब्यौरा जनता के सामने आ रहा है, तो कांग्रेस नेतृत्व सरकार की सरकार या कांग्रेस की सरकार के कार्य और मोदी सरकार के कार्य की तुलना करें तो मोदी सरकार का कार्यकाल उनपर भारी पड़ता है।
 

बता दें, कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी किया जिसमें गरीबों को न्यूनतम आय योजना (न्याय) के तहत सालाना 72 हजार रुपये देने और किसानों की स्थिति सुधारने के लिए अलग बजट के प्रावधान का वादा किया गया है।

पार्टी ने सभी के लिए गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा की उपलब्धता, सरकारी सेवाओं की 22 लाख रिक्तियों को भरने, ग्रामीण स्तर पर हर साल लाखों युवाओं को रोजगार देने, राफेल एवं भ्रष्टाचार के अन्य मामलों की जांच कराने, राष्ट्रीय एवं आंतरिक सुरक्षा पर जोर देने तथा अनुसूचित जाति, जनजाति, ओबीसी, अल्पसंख्यकों एवं महिलाओं के विकास के लिए कदम उठाने जैसे कई प्रमुख वादे किए हैं।

इस मौके पर राहुल गांधी ने कहा, 'जब एक साल पहले घोषणा पत्र तैयार करने की प्रक्रिया शुरू की गई तो हमने कहा कि इस घोषणापत्र में लोगों की आकांक्षाओं की झलक होनी चाहिए तथा सारे वादे सच्चे होने चाहिए। हम झूठ नहीं बोलना चाहते। प्रधानमंत्री रोज झूठ बोल रहे हैं।'

उन्होंने कहा, ' प्रधानमंत्री ने 15 लाख रूपये का झूठा वादा किया। लेकिन हमने विचार किया कि कुल कितना पैसा लोगों के खाते में डाला जा सकता है। फिर हमने कहा कि गरीबी पर वार, 72 हजार ।'