General News

मुंबई हमला: अमेरिका ने मास्टरमाइंड की जानकारी देने वालों को 50 लाख डॉलर के इनाम का किया ऐलान

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

26/11/2008 इस तारीख को कोई नहीं भूल सकता है. ये वही दिन है जब आज से ठीक 10 साल पहले देश की आर्थिक राजधानी मुंबई दहल उठी थी. हर तरफ चीखें और दर्दनाक आवाजें सुनाई दे रही थी. दस साल पहले हुए मुंबई हमले में 166 मासूम लोगों ने अपनी जान गंवा दी थी और 300 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे. रौंगटे खड़े कर देने वाले इस आतंकी हमले में 28 विदेशी नागरिकों को भी बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया गया था. 

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने मुंबई आतंकवादी हमले को क्रूरता बताते हुए पाकिस्तान तथा अन्य देशों से इस हमले के लिए जिम्मेदार लश्कर-ए-तय्यबा तथा उससे जुड़े संगठन और आतंकवादियों पर प्रतिबंध लागू करने के संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अपने दायित्वों को निभाने की अपील की है.

दरअसल मुंबई हमले की 10वीं वर्षगांठ पर अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने 26/11 हमले से आंतकियों के बारे में कोई भी सूचना देने पर इनाम का ऐलान किया है. पोम्पियो ने कहा, '26/11 हमले की साजिश से जुड़े हाफिज सईद, जकीउर्रहमान लखवी को पकड़वाने पर 50 लाख डॉलर (35 करोड़ रुपए) का इनाम दिया जाएगा.'

अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा, 'हमले के दोषियों का अब तक नहीं पकड़ा जाना अपनों को खोने वालों का अपमान है. सभी देशों और खासकर पाकिस्तान की जिम्मेदारी है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद प्रस्ताव के तहत वो इस हमले के दोषियों को सजा दिलवाए.'

इस दौरान उन्होंने ये भी कहा कि ये पीड़ितों के परिवारों के लिए एक झगड़ा है कि दस साल के बाद भी मुंबई हमले के मास्टरमाइंड को दोषी तक नहीं ठहराया गया. लश्कर-ए-तैयबा और उसके सहयोगियों समेत इस हमले के लिए जिम्मेदार आतंकवादियों के खिलाफ प्रतिबंध लागू करना चाहिए. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के दायित्वों को बनाए रखने के लिए सभी देशों विशेष रूप से पाकिस्तान को ध्यान देना चाहिए.

 

DO NOT MISS