General News

सपा नेता की गुंडई वायरल , महिलाओं को दौड़ा- दौड़ा कर लाठी से की जमकर पिटाई

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

जौनपुर में ब्लाक प्रमुख की  गुंडागर्दी का वीडियो सामने आया है. वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है की ब्लाक प्रमुख अपने गनर के साथ खड़े होकर महिलाओं को लाठी डंडे से पिटाई करा रहे है . वीडियो वायरल होने के बाद  आनन -फानन में एसपी ने ब्लाक प्रमुख के साथ साथ अन्य पांच आरोपियों के खिलाफ धारा परिवर्तित कर उनके गिरफ्तारी का न सर्फ आदेश दिया बल्कि मामले में हिला हवाली करने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ भी जाँच बैठाते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है .

एक सप्ताह पूर्व यानी बीते 14 दिसम्बर को सरायख्वाजा थाना के ककोर गहना गाँव की रहने वाली गरीब महिला और  करंजाकला ब्लाक प्रमुख दीपचंद सोनकर में रास्ते को लेकर विवाद हुआ . जिसके बाद ब्लाक प्रमुख के साथी लाठी डंडे से महिलाओं पर टूट पड़े और जमकर उनकी पिटाई कर दी . इस दौरान ब्लाक प्रमुख दीपचंद सोनकर अपने गनर के साथ खड़े होकर तमाशा देखते रहे . घायल अवस्था में महिला थाने पहुची तो वहा पुलिस वालों ने महिला से तहरीर तो ले ली लेकिन ब्लाक प्रमुख को बचाने के लिए धारा कमजोर लगा दी . 

पुलिस ने मामला तो दर्ज किया लेकिन कोई कार्रवाई नही की शायद पुलिस इस लिए बैक फुट पर थी क्योंकि आरोपी ब्लाक प्रमुख सपा सरकार में राज्यमंत्री रहे और वर्तमान में विधायक जगदीश सोनकर का भाई है . लेकिन आज ब्लाक प्रमुख की गुंडई का ये वीडियो वायरल हो गया जिसके बाद जब मीडिया ने इसे दिखाया तो पुलिस महकमे की नींद उड़ गई . आनन -फानन में एसपी ने ब्लाक प्रमुख के खिलाफ धारा परिवर्तित कर और गिरफ्तारी का आदेश दिया जिसमें पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है साथ ही एसपी ने दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ भी जाँच का आदेश दे दिया है .


जानकारी के आरोपितों में एक दीपचंद्र सोनकर सूबे के पूर्व मंत्री मछलीशहर के सपा विधायक जगदीश सोनकर का छोटा भाई है. एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. सपा नेता की गुंडई की खबर वायरल होने के बाद मारपीट के आरोपित ब्लाक प्रमुख को सपा से निष्कासित कर दिया गया है. इसकी जानकारी ट्वीट कर दी गई. 


गुरुवार की रात पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया. इसमें साफ दीपचंद्र सोनकर के ललकारने पर उनके गुर्गे लाठी लेकर खेतों में महिलाओं को दौड़ाकर पीटते देखे जा सकते हैं. इससे महकमें की किरकिरी होने पर पुलिस उच्चाधिकारियों निंद खुली. 

पीड़िताओं में से एक पुष्पा देवी की बयान पर दींपचंद्र सोनकर समेत पांच के खिलाफ बलवा, मारपीट , गाली - गलौच , जान से मारने की धमकी और क्रिमिनल लॉ एमेंडमेंड ऐक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया. आरोपितों में से एक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. दूसरों आरोपीयों की तलाश जारी है.

 

DO NOT MISS