pc - twitter
pc - twitter

General News

धर्मांतरण का आरोप लगाकर वाराणसी में चर्च पर हमला, बिशप ने कार्रवाई के लिए मोदी को पत्र लिखा

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

उत्तर प्रदेश पुलिस ने एक चर्च में कथित तौर पर “हंगामा करने” और उसके प्रवेश द्वार को तोड़ने के लिए 50 से 60 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. 


यहां सेंट थॉमस चर्च में हुई इस घटना के बाद नॉर्थ इंडिया चर्च (सीएनआई) के बिशप पीटर बलदेव ने हमले के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है.


दशाश्वमेघ पुलिस थाने के थाना प्रभारी बीके शुक्ला ने कहा, “चर्च में हंगामा मचाने, प्रवेश द्वार तोड़ने और वहां सदस्यों को धमकाने के लिए करीब 50-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.” 

उन्होंने कहा कि हम हमलावरों की पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं और उन्हें जल्द ही पकड़ लिया जाएगा .  


बिशप बलदेव ने वाराणसी से सांसद मोदी को एक पत्र लिखकर धार्मिक स्थानों पर हिंसा फैलाने एवं शांत माहौल को खराब करने वाले अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की अपील की है . 

बता दें घटना गुरुवार (04 अक्टूबर) की बताई जा रही है. घटना के बाद दशाश्वमेध थाने में चर्च के पादरी न्यूटन स्टीवेन की तहरीर के आधार पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. 

वहीं, नॉर्थ इंडिया चर्च (सीएनआई) के बिशप पीटर बलदेव ने हमले के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. 

वाराणसी से सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखकर धार्मिक स्थानों पर हिंसा फैलाने और शांत माहौल को खराब करने वाले अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की अपील की है.

चर्च के विशप न्यूटन स्टीवेन ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि धर्मांतरण जैसे सारे आरोप निराधार हैं. कुछ लोग माहौल खराब करने के लिए चर्च के उत्तरी गेट का ताला तोड़कर चर्च परिसर के भीतर घुस आए और वहां रखे गमले क्षतिग्रस्त कर दीवारों पर लगे पोस्टर इत्यादि फाड़ कर तोड़फोड़ शुरू कर दी. उन्होंने बताया कि इसके बाद ही उन्होंने 100 नंबर पर फोन मिलाया, जिसके बाद मौके पर पुलिस पहुंची और मामला शांत हुआ . 

( इनपुट -  भाषा से भी )

DO NOT MISS