General News

फारूख अब्दुल्ला के ‘‘पप्पू’’ वाले बयान पर BJP की चुटकी, "राहुल गांधी अब पप्पू से गप्पू बन गए हैं"

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

हालिया विधानसभा चुनाव में या कहे खासतौर पर हिंदी भाषी चुनावी राज्यों में कांग्रेस की प्रदर्शन के बाद से ही राहुल गांधी की एक अलग ही तस्वीर सामने आ रही हैं. वहीं नेशनल कांफ्रेंस के प्रमुख फारूख अब्दुल्ला के कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अब ‘‘पप्पू’’ नहीं रहने वाले बयान पर एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी ने चुटकी ली है.

अल्पसंख्यक कार्य मामलों के केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने फारूख अब्दुल्ला को सही ठहराया और कहा कि वो पप्पू से गप्पू बन गए हैं.

उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि फारूख अब्दुल्ला ने सही कहा कि वो अब पप्पू नहीं रहे, बल्कि अब वो पप्पू से गप्पू बन गए हैं और पप्पू से लेकर गप्पू तक का उनका सफर झूठ का झुनझुना लेकर तय किया है.

दरअसल तीन प्रमुख हिंदी भाषी राज्यों में चुनावी नतीजों के बारे में बात करते हुए अब्दुल्ला ने शुक्रवार को कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अब ‘‘पप्पू’’ नहीं रहे और उन्होंने तीन प्रमुख हिंदी भाषी राज्यों के चुनावों में जीत हासिल कर बतौर नेता अपनी क्षमताएं साबित कर दी है.

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने करतारपुर गलियारे को खोले जाने का स्वागत करते हुए इसे ‘‘उचित दिशा में उठाया गया कदम’’ बताया. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान को भारत के साथ रिश्ते कायम करने के लिए आतंकवाद का रास्ता छोड़ना चाहिये.

वह यहां चेम्बर्स ऑफ कॉमर्स के एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘राहुल गांधी अब पप्पू नहीं रहे. उन्होंने तीन राज्यों में जीत दिला कर अपनी योग्यता साबित कर दी है.

गौरतलब है कि भाजपा और अन्य कुछ दल गांधी पर व्यंग्य करते हुये उन्हें प्राय: ‘‘पप्पू’’ की संज्ञा देते हैं. उन्होंने बाद में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की और उन्हें अपनी ‘‘बहन’’ बताया और उम्मीद जताई की कि तृणमूल कांग्रेस प्रमुख अपनी तरफ से देश को बचाने की पूरी कोशिश करेंगी जो इस समय ‘‘गलत दिशा’’ में जा रहा है.

 

 

DO NOT MISS