General News

पुलवामा हमले पर गुस्से में भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है ब्रिटेन: बोरिस जॉनसन

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:


नयी दिल्ली- ब्रिटेन के सांसद एवं पूर्व विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन ने शनिवार को कहा कि पुलवामा आतंकवादी हमले पर आक्रोश और आतंकवादियों को हराने के लिए काम करने की प्रतिबद्धता में ब्रिटेन भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है।

जॉनसन ने कहा कि भारत और ब्रिटेन आतंकवाद को हराने में सफल होंगे। दोनों देशों के मूल्य आतंकवादियों एवं उनके प्रायोजकों के मूल्यों से ऊंचे हैं।

लंदन के पूर्व मेयर बोरिस जॉनसन ने कहा कि ब्रिटेन पुलवामा हमले के खिलाफ आक्रोश और आतंकवादियों को शिकस्त देने के लिए काम करने की प्रतिबद्धता में भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है।

उन्होंने कहा, ‘‘और हम सफल होंगे और उन्हें हराएंगे क्योंकि अंतत: हमारे मूल्य आतंकवादियों और उनके प्रायोजकों के मूल्यों से ऊंचे हैं।’’ 

उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। 

जॉनसन ने भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की पाकिस्तान की हिरासत से रिहाई के बारे में कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने यह फैसला कर समझदारी से काम लिया लेकिन आतंकवाद से निपटना उनके लिए स्पष्ट रूप से बहुत मुश्किल होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पाकिस्तान के साथ बहुत महत्वपूर्ण संबंध हैं लेकिन इस बात में कोई शक नहीं है कि देश आतंकवादी समूहों के प्रायोजकों से संबंध को लेकर जिम्मेदार है। हम कार्य बल के माध्यम से और काली सूची बनाकर इससे निपटने की कोशिश कर रहे हैं। हमने पाकिस्तान पर काफी दबाव डाला है, लेकिन हम हमारे सहायता बजट के जरिए और दबाव डालने पर विचार कर सकते हैं।’’ 

यह भी पढ़े- इंतजार की घडी खत्म..वतन लौट आए विंग कमांडर अभिनंदन, 9:21 बजे रखा देश में कदम

अभिनंदन को करीब तीन दिन हिरासत में रखने के बाद पाकिस्तान ने उन्हें शुक्रवार को भारत को सौंपा था।

यह भी पढ़े- जांबाज पायलट अभिनंदन की वतन वापसी पर PM मोदी ने ट्वीट कर कहा- राष्ट्र को आपके अनुकरणीय साहस पर गर्व है. .. .

 यह भी पढ़े-  PM मोदी बोलें, ''कभी अभिनंदन का अर्थ Congratulations होता था और अब... अर्थ ही बदल जाएगा'' . . . .

 

 

DO NOT MISS