General News

अमृतसर ट्रेन हादसे की कहानी ट्रेन ड्राइवर की 'जुबानी', आखिर क्यों नहीं रोकी थी ट्रेन?

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

पंजाब के अमृतसर में हुए भयवाह ट्रेन हादसे में अब एक- एक करके नए खुलासे हो रहे हैं.

इसी बीच ट्रेन ड्राइवर का लिखित बयान सामने आया है, जिसमें उसने बताया, ''वह जालंधर से चला था. मानावाला से निकला और अचानक ट्रैक पर लोग दिखे. जैसे ही उसने देखा ब्रेक लगाया, लेकिन गाड़ी की स्पीड कंट्रोल करते करते लोगों से टक्कर हो गई. गाड़ी पूरी तरह से रुकी नहीं थी कि पीछे से पब्लिक ने अटैक करना शुरू कर दिया. गार्ड ने उसे बताया कि पब्लिक ने अटैक करना शुरू कर दिया है. ऐसे में यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए उसने ट्रेन नहीं रोकी”. 

क्या हुआ था उस दिन?

बता दें, दशहरे के मौके पर रावण दहन देखने के लिए 20 से अधिक वर्षों से लोग आसपास के गांवों से रेलवे पटरियों से महज 50 मीटर दूर जोड़ा फाटक पर खाली पड़े मैदान में एकत्रित होते रहे हैं.  

बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक दशहरा उत्सव की खुशियां शुक्रवार को तब मातम में बदल गई जब एक ट्रेन की चपेट में आने से कम से कम 61 लोगों की मौत हो गई, जो वहां रावण के पुतले का दहन देखने के लिए जुटे थे.

गौरतलब है कि अमृतसर में जोड़ा फाटक के समीप शुक्रवार शाम को रावण दहन देखने के लिए रेल की पटरियों पर खड़े लोग एक ट्रेन की चपेट में आ गए जिसमें कम से कम 61 लोगों की मौत हो गई और 72 अन्य घायल हो गए.

तनी भीड़ होने के बावजूद रेल चालक द्वारा गाड़ी नहीं रोके जाने को लेकर सवाल उठने पर अधिकारी ने कहा, ‘‘वहां काफी धुआं था जिसकी वजह से चालक कुछ भी देखने में असमर्थ था और गाड़ी घुमाव पर भी थी.’’

सवालों के घेरे में नवजोत कौर सिद्धू

बता दें,इस हादसे से चंद मिनट पहले की तस्वीर और वीडियो सामने आया है . जिसमें रावण दहन कार्यक्रम के आयोजक सौरभ मदान मुख्य अतिथि कांग्रेस की नेता नवजोत कौर सिद्धू के आवभगत करते नजर आ रहे है. इस तस्वीर में आयोजक अपने हाथों से नवजोत कौर सिद्धू को मिठाई खिलाते हुए नजर आ रहे हैं. 

आयोजक सौरभ मदान बिट्टू नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर का बहुत क़रीबी  हैं. तस्वीरों में नवजोत कौर भी सौरभ को मिठाई खिलाती दिखी . 

हालांकि नवजोत कौर सिद्धू ने सफाई देते हुए कहा कि मैं हादसे से 15 मिनट पहले ही वहां से निकल गई थी

DO NOT MISS