General News

बालाकोट में आतंकी फिर सक्रिय, भारतीय सेना हर तरह का जवाब देने में सक्षम : राजनाथ सिंह

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

बालाकोट के फिर सक्रिय होने पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को कहा कि भारतीय सुरक्षा बल हर स्थिति का सामना करने को तैयार है। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने सोमवार को चेन्नई में कहा था कि पाकिस्तान ने हाल ही में बालाकोट में आतंकी शिविरों को फिर शुरू कर दिया है और करीब 500 घुसपैठिए भारत में घुसने की फिराक में हैं।

गौरतलब है कि इस वर्ष की शुरुआत में भारतीय सैन्य बलों ने सर्जिकल स्ट्राइक कर बालाकोट स्थित आतंकी शिविरों को नष्ट कर दिया था। रावत ने तमिलनाडु में ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकेडमी में संवाददाताओं से कहा था कि आतंकी संगठनों के फिर से सक्रिय होने पर भारत का जवाब फरवरी में किए गए हवाई हमलों से कहीं बढ़कर हो सकता है।

रावत ने सोमवार को कहा था कि पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकवादी ठिकानों को फिर सक्रिय कर दिया है और करीब 500 घुसपैठिए भारत में घुसने की फिराक में हैं।

नए आतंकवादी ठिकानों के सवाल पर उन्होंने कहा कि सीमा पार स्थित आतंकवादी ठिकाने फिर से सक्रिय हो गए हैं। साथ ही उन्होंने कहा, ‘‘ मैं आपको बताता हूं, पाकिस्तान ने हाल ही में बालाकोट को फिर सक्रिय कर दिया है।’’

यह भी पढ़ें : 'बालाकोट में आतंकी कैंप को PAK ने फिर किया सक्रिय, 500 आतंकवादी घुसपैठ की फिराक में' : जनरल रावत

सेना प्रमुख ने कहा कि बालाकोट सीमा पार हमले में क्षतिग्रस्त और नष्ट हो गया था। ‘‘इसलिए लोग वहां से चले गए थे और अब वह फिर से सक्रिय हो गया है।’’

अड्डा के पुन: सक्रिय होने पर उनकी प्रतिक्रिया और दोबारा हवाई हमला की संभावना के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘ आप एक ही चीज के दोबारा होने की उम्मीद क्यों करते हैं, पहले हमने कुछ और किया, फिर बालाकोट (पर हवाई हमला), हम इसे क्यों दोहराएं...।’’

इस साल के शुरू में पाकिस्तान स्थित आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद ने कश्मीर के पुलवामा में सेना के काफिले पर आत्मघाती हमला किया था जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले के बाद दोनों देशों के रिश्ते तनावपूर्ण हो गए थे।

पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने इसी साल 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण केंद्र को खत्म कर दिया था।

DO NOT MISS