General News

केरल नन रेप केस: आरोपी बिशप के खिलाफ गवाही देने वाले फादर की संदिग्ध मौत, जालंधर Diocese ने दी ये प्रतिक्रिया

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

केरल में नन के साथ बलात्कार मामले के गवाह फादर कुरियाकोज कट्टुथारा सोमवार को पंजाब के होशियारपुर जिले के दसुया में ‘‘रहस्यमय परिस्थितियों’’ मृत मिले.

कट्टुथारा आज सुबह अपने कमरे में बेसुध मिले थे, जिसके बाद उन्हें स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत लाया घोषित कर दिया.
 
इसी बीच बिशप फ्रैंको मुलक्कल और बिशप एग्नेलो रूफिनो ग्रेसीस ने फादर कुरियाकोज कट्टुथारा के अचानक निधन पर शोक व्यक्त किया है.  वह 22 अक्टूबर 2018 की सुबह अपने निजी कमरे में मृत पाए गए थे. 

पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के कारणों का पता चल पाएगा. पुलिस के अनुसार उनके शरीर पर किसी तरह के चोट के कोई निशान नहीं है.
पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) ए आर शर्मा ने कहा, ‘‘कमरे में उलटी के निशान है.’’ 

डीएसपी ने कहा, ‘‘विसरा की रिपोर्ट को जांच के लिए भेजा जाएगा, जिसके बाद ही मौत के कारणों का पता चल पाएगा.’’ 

इस बीच, पिता कुरियकोस कट्टुथारा के भाई Jose कट्टुथारा ने स्थानीय मीडिया से आरोप लगाया है कि कुरियकोस ने विश्वास किया था कि उन्हें मौत की धमकी मिल रही है और चर्च के अधिकारी उसे परेशान कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, "मुझे आज सुबह सुबह 10.30 और 11 बजे के बीच फोन आया और कहा कि वह अपने कमरे में मृत पाए गए हैं. उन्होंने जांच के दौरान फ्रैंको के खिलाफ एक बयान दिया था. मैं शिकायत दर्ज करने के लिए अलाप्पुझा में पुलिस स्टेशन जा रहा हूं,"

पादरी को 15 दिन पहले ही दसुया के कैथोलिक चर्च में स्थानांतरित किया गया था. वह चर्च परिसर में रह रहे थे. स्कूल भी दसुया के धर्मपुर में गिरिजाघर के परिसर में स्थित है.

होशियारपुर उपायुक्त ईशा कालिया ने कहा, ‘‘पुलिस मामले की जांच कर रही है.’’ 

केरल में पादरी के परिवार वालों ने कहा कि वह बिशप के खिलाफ सामने आने के बाद से ही कट्टुथारा की सुरक्षा को लेकर चिंतित थे. परिवार वालों ने मामले की गहन जांच सहित पोस्टमार्टम ‘अलाप्पुझा मेडिकल कॉलेज’ में कराने की मांग भी की है.

कट्टुथारा ने बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ गवाही दी थी, जिसपर नन के बलात्कार का आरोप है.
 

(इनपुट- भाषा से भी)

DO NOT MISS