General News

सुब्रमण्यम स्वामी ने अलाउद्दीन खिलजी को बताया कसाई .. किया फिल्म ''पद्मावती'' का विरोध

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

फिल्म पद्मावती को लेकर ताजा बयान भारतीय जनता पार्टी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने दिया हैं. स्वामी ने कहा है फिल्म पद्मावती में जिस तरह से रानी पद्मिनी को दिखाया जा रहा है वह ठीक नहीं है. रानी पद्मिनी अपने त्याग, बलिदान के लिए जानी जाती हैं लेकिन फिल्म में उन्हें डांस करते हुए दिखाया जा रहा है. इसके साथ ही स्वामी ने अलाउद्दीन खिलजी को कसाई बताते कहा इस फिल्म के जरिए खिलजी की छवी सुधारने की कौशिश की जा रही है. उसे एक सभ्य इंसान के तौर पर पेश किया जा रहा है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को दुबई से पैसा मिल रहा है.

फिल्म इंडस्ट्री को दुबई से पैसा मिलने के स्वामी के आरोपों पर बीजेपी नेता और सेंसर बोर्ड (सीबीएफसी) के सदस्य अर्जुन गुप्ता ने प्रधानमंत्री मोदी को चिठ्ठी लिखी है. गुप्ता ने इस चिठ्ठी में  प्रवर्तन निदेशालय से इस पूरे मामले की जांच कराने की मांग की है.

यह पहला ऐसा मौका नहीं है जब स्वामी ने फिल्म का विरोध किया हो इससे पहले भी स्वामी ने संजय लीला भंसाली और उनकी फिल्म का विरोध करते हुए कहा था, इस दौरान बॉलीवुड में कई बड़ी बजट वाली फिल्में बन रही हैं. हमें इसके पिछे छिपे षड़यंत्र का पता लगाना होगा. दुबई में बैठे लोग मुसलमान राजाओं को एक हीरो की तरह देखना चाहते हैं. स्वामी ने सवाल उठाते कहा ब्रिटेन के सेंसर बोर्ड को बिना सीबीएफसी के सर्टिफिकेट दिए जाने के पहले फिल्म कैसे दिखाई गई?

इस फिल्म में शाहिद कपूर के साथ लीड रोल में दीपिका पादुकोण हैं जो रानी पद्मिनी का किरदार निभा रही हैं. गौरतलब है कि पहले पद्मावती को ''एक दिसंबर 2017'' को रिलीज होना था लेकिन भारत में फिल्म का जबरदस्त विरोध होने के बाद फिल्म की रिलीज डेट टाल दी गई है.

राजपूत समुदाय इस फिल्म का जबरदस्त विरोध कर रहा है. राजपूतों का कहना है फिल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली ने इतिहास के साथ छेड़छाड़ किया है. इसलिए वह इस फिल्म को रिलीज नहीं होने देंगे. इससे पहले एक नेता ने फिल्म डायरेक्टर संजय लीला भंसाली और दीपिका पादुकोण के सिर काटने वाले को 10-10 करोड़ रुपये देने का भी ऐलान किया था.

DO NOT MISS