General News

नन बलात्कार मामला में विवादित बयान देकर घिरे MLA पीसी जॉर्ज पर बिफरी CPM नेता सुभाषिनी अली, दिया करारा जवाब

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

एक रोमन कैथोलिक चर्च के बिशप के खिलाफ एक नन द्वारा दायर बलात्कार की शिकायत करने के बाद अब इस मामले ने सियासी रूप ले लिया है. केरल के एक निर्दलिया विधायक  ने 'पीड़िता' नन पर ही सवाल उठाते हुए उसे  एक 'वेश्या' बताया है. 

दरअसल निर्दलीय विधायक पीसी जॉर्ज ने कहा था, 'किसी को भी संदेह नहीं है कि नन एक वेश्या है. 12 बार उसने एंजॉय किया तो 13वीं बार यह रेप कैसे हो गया?'

लेकिन अब विधायक के इस शर्मनाक बयान की चौतरफा निंदा हो रही है. 

सीपीएम नेता सुभाषिनी अली ने पीसी जॉर्ज के बयान की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि नन ने संगठन के प्रमुख (बिशप) के खिलाफ ऐसे आरोप बनाने में साहस दिखाया. लेकिन सार्वजिनक जीवन में रहने वाले व्यक्ति ( पीसी जॉर्ज)  द्वारा नन के लिए इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करना भयानक है.

बता दें, जुलाई में, नन ने पंजाब के जलंधर स्थित बिशप के खिलाफ बलात्कार और यौन हमले की शिकायत दर्ज कराई थी. उनका आरोप था कि बिशप अक्सर आधिकारिक काम के लिए केरल जाते थे, जिसके दौरान उन्होंने कथित रूप से कई अवसरों पर बलात्कार किया था. लेकिन इस मामले ने उस वक्त तूल पकड़ा जब मीडिया ने इसे जोरों शरों से उठाया, सार्वजनिक दबाव के तहत एक जांच शुरू की गई. 

पिछले महीने, जांच दल बिशप के बयान को रिकॉर्ड करने के लिए जलंधर गया था. पूछताछ के बाद, केरल पुलिस ने कहा कि उन्हें नन के बयान पर अधिक स्पष्टता की आवश्यकता है.

हालांकि, जांच दल केरल लौटने के तीन सप्ताह बाद भी, इसने नन का नया बयान दर्ज नहीं किया है. जिसके बाद पीड़िता नन ने आरोपी बिशप को गिरफ्तार करने के लिए  केरल उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है. 

इससे पहले विभिन्न कैथोलिक सुधार संगठनों के सदस्यों ने शनिवार को बिशप की तत्काल गिरफ्तारी की मांग में एक विरोध प्रदर्शन किया . कोट्टायम के कॉन्वेंट की पांच ननों ने भी प्रदर्शन में हिस्सा लिया. उन्होंने आरोप लगाया कि चर्च, पुलिस और सरकार ने जालंधर डायोसीज के आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करके पीड़िता को न्याय से वंचित किया है .

 

DO NOT MISS