General News

रुठे कांग्रेसियों को मनाने के लिए कमलनाथ ने लिखी भावुक पत्र - भरोसा रखिए हस्तिनापुर सामने है, गांडीव उठाकर टूट पड़िये.

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

मध्यप्रदेश विधासनभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने से रुठे कांग्रसी नेताओं को मनाने की कोशिश करते हुए प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने भावुक चिट्ठी लिखी. कमलनाथ ने कार्यकर्ताओं को लिखी चिट्ठी में टिकट ना मिलने वालों से निराश न होने की बात कही है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं को कमलनाथ ने आश्वासन देते हुए कहा '' सरकार बनती है तो दर्जनों अवसर आपका इंतजार कर रहे हैं. भरोसा रखिए हस्तिनापुर सामने है.  मौजूदा सरकार आखरी सांसे गिन रही है, इसे आखरी धक्का देकर अंजाम तक तक सबको पहुंचाना है.''

कमलनाथ पत्र जारी कर लिखा , ''आज कांग्रेस पार्टी उस मुहाने पर पहुंच गई है , जहां से भ्रष्टाचारी भाजपा सरकार को धराशायी  किया जा सकता है. बस एक धक्के की जरूरत है, वो आखिरी सांसे गिन रही है. यह सब एक - एक कांग्रेस कार्यकर्ता की सजगता , उसके जुझारुपन और संघर्षशील योगदान का परिणाम है. इस आखिरी धक्के को भी हम सबको मिलकर ही अंजाम देना है. हम सबको एक रहना है, क्योंकि एकता ही इस चुनाव में हमारी सबसे बड़ा ताकत बनेगी. बस एक ही संक्लप है कि हमें कांग्रेस को जिताना है और भाजपा को इस प्रदेश से उखाड़ फेंकना है. 

आप लोगों ने इसी विश्वास के साथ इस युद्ध में अपनी भागीदारी के लिए टिकिट के लिए आवेदन किया है. आप तन - मन - धन से पार्टी के लिए इन अवसरों को परिणाम में बदलना चाहते हैं, किंतु आप यह भी भली भांति जानते है कि किसी भी चुनाव में टिकिट तो केवल एक ही व्यक्ति को मिल सकता है इसका यह अर्थ नहीं है कि आकांक्षा रखने वाले बाकी लोगों की शक्ति को पार्टी पहचानाती नहीं है. उनके लिए भी आगे दर्जनों अवसर हैं, यहां इसका उपयोग किया जा सकेगा.


आज हम सबको सामने 15 साल के एक दमनकारी शासन से मुक्ति दिलाने की चुनौती है , जनता हमारी ओर आशा और विश्वास भरी नजरों से देख रही है. आपने कांग्रेस के प्रति अपनी निष्टा का परिचय दिया है और ये समय इस निष्ठा की अग्नि परीक्षा का है. भाजपा को पूरी ताक से परास्त कर जनआकांक्षा पर खरे उतरने और कांग्रेस की पहचान बनने के दर्जनों अवसर सामने आयेंगे, यहां आप अपने यश और कीर्ति का परचम खुद लहरायेंगे और सरकार के सजग हिस्सेदार होंगे.

ध्यान रहे, यह बिरला अवसर है जो बार - बार नहीं आयेगा. जब भाजपा आपने अस्तिव के लिए संघर्ष कर रही है , अपने अंतरविरोधों के थपेडे़ सह रही है और जनता के आक्रोश से झलुस रही है , तब हमारा धैर्य , जिजीविषा और आक्रमक एकता से उसे बेदखल किया जा सकता है. विश्वास कीजिए, हस्तिनापुर सामने है वह आपका है , आपके लिए है. गांडव उठाकर टूट पड़िये. राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी का हाथ आपके कंधे पर है और रहेगा. 

प्रदेश में कांग्रेस परिवार का मुखिया होने के नाते मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि इस जीत में एक - एक कार्यकर्ता की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी.'' 


बता दें मध्यप्रदेश में 52 जिले हैं , जिनमें कुल 230  विधानसभा सीटें है. यहां मध्य प्रदेश में एक ही चरण में मतदान होगा और इसके लिए 28 नवंबर को वोट डाले जाएंगे. चुनावी नतीजों की घोषणा 11 दिसंबर को की जाएगी.  

DO NOT MISS