सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

General News

रांची के CAF कैंप में आपस में भिड़े जवान, सिपाही ने कंपनी कमांडर को मारी गोली, बाद में की खुदखुशी

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव ड्यूटी पर आए छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल की एक बटालियन के जवान ने आपसी विवाद के बाद अपने कंपनी कमांडर को सोमवार तड़के गोली मारकर उसकी हत्या कर दी और इसके बाद उसने अपने हथियार से खुद को भी गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

कंपनी कमांडर की पहचान मेला राम और आत्महत्या करने वाले जवान की पहचान विक्रम राजबाड़ी के रूप में की गई है।

रांची के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनीश गुप्ता ने बताया कि यह घटना सुबह लगभग 6:30 बजे खेल गांव परिसर में हुई, जहां इन जवानों को द्वितीय चरण के मतदान के बाद ठहराया गया था।

उन्होंने बताया कि प्रारंभिक सूचना के अनुसार कंपनी कमांडर और जवान में किसी बात को लेकर विवाद हुआ जिसके बाद गुस्से में जवान ने अपने हथियार से कंपनी कमांडर को गोली मार दी जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। इस घटना के बाद जवान ने अपने हथियार से स्वयं को भी गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

गोलीबारी की इस घटना में दो अन्य जवानों को छर्रे लगे हैं और उन्हें घायल स्थिति में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनकी हालत खतरे से बाहर बताई गई है। गुप्ता ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है जिसके बाद इसके वास्तविक कारणों की जानकारी हो सकेगी।

यह भी पढ़ें - छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में ITBP के एक जवान की गोलाबारी में छह जवानों की मौत, बाद में की खुदखुशी

बता दें, इससे पहले छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिले में भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल के एक जवान ने गोलीबारी की थी जिसमें कुल छह जवानों की मौत हो गई तथा दो अन्य घायल हो गए थे। इसमें हमला करने वाला जवान भी शामिल है।

बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज. पी ने बताया था कि जिले के धौड़ाई पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत कड़ेनार गांव में स्थित आईटीबीपी की 45वीं बटालियन के शिविर में जवान मसुदुल रहमान ने अचानक गोलीबारी शुरू कर दी। इस घटना में चार जवानों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई तथा तीन अन्य जवान घायल हो गए थे।

सुंदराज ने बताया था कि घटना में रहमान की भी मौत हो गई तथा बाद में एक घायल जवान ने दम तोड़ दिया।

DO NOT MISS