General News

मनोहर पर्रिकर के निधन से शोकाकुल हूं, वह अद्वितीय नेता, सच्चे देशभक्त और असाधारण प्रशासक थे : PM मोदी

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि नोहर पर्रिकर के निधन से शोकाकुल हूं

पीएम मोदी ने अपने अधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा, 'श्री मनोहर पर्रिकर आधुनिक गोवा के निर्माता थे. अपने मिलनसार व्यक्तित्व और सुलभ स्वभाव की बदौलत वर्षों तक राज्य के पसंदीदा नेता बने रहे. उनकी जन-समर्थक नीतियों ने गोवा को प्रगति की उल्लेखनीय ऊंचाइयों तक पहुंचाया.'

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि भारत ने एक सच्चा देशभक्त खो दिया जिसका पूरा जीवन राष्ट्र और सिद्धांतों को समर्पित था। शाह ने कहा कि पर्रिकर ने दिखाया कि कैसे भाजपा का एक कार्यकर्ता ‘‘उसके सबसे कठिन समय में भी, राष्ट्र सर्वप्रथम, फिर पार्टी और स्वयं को अंत में रखने के सिद्धांत पर अटल रहता है।’’

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी उनके निधन पर शोक जताते हुए कहा कि सशस्त्र बलों को ताकतवर और आधुनिक बनाने में उनका योगदान अद्वितीय है।

शाह ने कहा, ‘‘मनोहर पर्रिकर का निधन बेहद दुखदायी है। उनके रूप में भारत ने एक सच्चा देशभक्त खोया है जिसने निस्वार्थ भाव से अपना पूरा जीवन देश और सिद्धांतों के हवाले कर दिया। जनता के प्रति पर्रिकर का समर्पण और उनका कर्तव्य अनुकरणीय है। भारत के रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में उनके योगदान को हमेशा याद किया जाएगा।’’

उन्होंने कहा कि पूरी भाजपा पर्रिकर के परिवार के साथ है।

शाह ने ट्वीट किया है, ‘‘भाजपा के लाखों कार्यकर्ताओं और खास तौर से गोवा के लोगों के प्रति मैं संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। गोवा के लोग उनके परिवार जैसे थे। ईश्वर उनके परिवार को यह आघात सहन करने की शक्ति दे। ओम शांति शांति शांति ।’’

लंबी बीमारी के बाद रविवार को पर्रिकर का गोवा स्थित उनके निजी आवास पर निधन हो गया।

पर्रिकर को निष्कपट, ईमानदार और संवेदनशील राजनीतिक कार्यकर्ता बताते हुए सीतारमण ने कहा कि ‘‘मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है।’’

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘मनोहर पर्रिकर नहीं रहे। निष्कपट, ईमानदार और संवेदनशील राजनीतिक कार्यकर्ता । वह सरल और जमीन से जुड़े थे, मैंने पर्रिकर से बहुत कुछ सीखा है। रक्षा मंत्री के तौर पर सशस्त्र बलों को आधुनिक और ताकतवर बनाने में उनका योगदान अद्वितीय है।’’

DO NOT MISS