General News

शाहीन बाग के 'मास्टरमाइंड' सरजील इमाम ने कहा, "असम को देश से अलग करना हमारी जिम्मेदारी"

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

नारिकता संसोधन कानून (सीएए) और नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन बिल (एनआरसी) के विरोध के नाम एक बार फिर देश को कथित तौर पर तोड़ने की साजिश का खुलासा हुआ है। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने शनिवार को एक वीडियो साझा किया, जिसमें जेएनयूएसयू के पूर्व सदस्य और शाहीन बाग समन्वय समिति के प्रमुख शारजील इमाम ने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में मुसलमानों को निर्देश दिया कि वे रेलवे को अवरुद्ध करके भारत से असम को काटें।

एनआरसी से बहिष्कार के कारण राज्य के शिविरों में असम के मुसलमानों को हिरासत में लेने का दावा करते हुए, इमाम ने मुसलमानों को 'अपने गुस्से का इस्तेमाल करने' के लिए उकसाया। यह कहते हुए कि केंद्र को उनकी बात सुनने का यही एकमात्र तरीका है, उन्होंने मुसलमानों को असम में उथल-पुथल से बचने के लिए 'चक्का जाम' करने की सलाह दी।

यह भी पढ़ें - शाहीन बाग पर बड़ा खुलासा: धरने के पीछे कांग्रेस की "साजिश", CAA के नाम पर लोगों को "भड़काया"

शारजील इमाम: 'भारत से असम को काटें'

सरजील ने वीडियो में कहा कि‘हमारे पास संगठित लोग हों तो हम असम से हिंदुस्तान को हमेशा के लिए अलग कर सकते हैं। परमानेंटली नहीं तो एक-दो महीने के लिए असम को हिंदुस्तान से कट कर ही सकते हैं। रेलवे ट्रैक पर इतना मलबा डालो कि उनको एक महीना हटाने में लगेगा…जाना हो तो जाएं एयरफोर्स से। असम को काटना हमारी जिम्मेदारी है।’

वीडियो में शरजिल इमाम भड़काऊ भाषा का इस्तेमाल करते हुए कहता है, असम और इंडिया कटकर अलग हो जाए, तभी वह हमारी बात सुनेंगे। असम में मुसलमानों का क्या हाल है, आपको पता है क्या? वहां एनआरसी लागू हो गया है। मुसलमान डिटेंशन कैंप में डाले जा रहे हैं…6-8 महीनों में पता चलेगा कि सारे बंगालियों को मार दिया गया वहां… अगर हमें असम की मदद करनी है तो हमें असम का रास्ता बंद करना होगा।’
इसके अलावा, माकपा नेता कन्हैया कुमार की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा, "कन्हैया जैसे राजनेता वहां जाएंगे, इंकलाब का आह्वान करेंगे, फोटो लेंगे और वापस चल जाएंगे। जनता हमारा (मुस्लिम) और उनका चेहरा होगा, जो प्रोडक्टिव कुछ भी नहीं होगा। हमें अपने क्रोध और इसकी जिम्मेदारी का उपयोग हम सभी (मुस्लिमों) के लिए करना चाहिए "

DO NOT MISS