General News

पीएम पर कांग्रेस नेता अहमद पटेल का शर्मनाक बयान, कहा- गटर लेवल की राजनीति करते हैं मोदी

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:


R. भारत के पास मौजूद एक्सक्लूसिव दस्तावेज में अगस्ता वेस्टलैंड मामले में गिरफ्तार आरोपी क्रिश्यिचन मिशेल ने एक से बढ़कर एक खुलासे किए है।  चार्जशीट के अनुसार दलाल मिशेल ने माना कि AP का मतलब अहमद पटेल और FAM का मतलब फैमिली है। ईडी के चार्जशीट में लगे सनसनीखेज आरोप पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस के विरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने पीएम पर शर्मनाक बयान देते हुए कहा कि 'मोदी गटर लेवल की राजनीति करते हैं।'

अहमद पटेल ने कहा कि हम कहीं पर दोषी हैं तो कमसे कम हमपर कार्रवाई करें, फांसी पर लटका दें लेकिन यह किसके मुंह से निकल रहा हैं। नरेंद्र मोदी को सब जानते हैं गटर लेवल पॉलिटिक्स करते हैं । जैसे कोई गांव को मुखिया बोल रहा हो, जैसे देहात में कोई व्यक्ति  मुंसीपाल्टी की राजनीति कर रहा हो। कहावत है न चोरों को सारे नजर आते हैं चोर । न्यायपालिका है वहां जाएं और अगर हम दोषी है तो हमारे खिलाफ कार्रवाई करें । यह जुमलों की बोछार है। चुनावी माहौल है। चुनावी माहौल में बारिश तो होनी है। कहीं न कहीं तो उन्हें मुद्दे चाहिए ।

इससे पहले अमहद पटेल ने सिलसिलेवार तरीके से ट्वीट कर कहा कि 'चुनावों का मौसम है,सो जुमलों की बौछार शुरू हो गयी है! बेबुनियाद और हास्यास्पद आरोपी की बारिश हो रही है! हमें न्यायपालिका पर पूरा विश्वास है की सच्चाई कभी छुप नहीं सकती; दूध का दूध और पानी का पानी हो कर रहेगा! लगता है कि ED अब NDA का अहम हिस्सा बन चुकी है।

अहमद पटेल ने लिखा 'लेकिन ऐसी तिकड़मबाजी से काम नहीं चलेगा| आप मुद्दों से बच नहीं सकते। जनता जनार्दन अब इन सवालों का जवाब चाहती है: युवा क्यों बेरोजगार हैं ? किसान क्यों परेशान हैं ? व्यापारी क्यों बेहाल हैं ? वैसे मोदी सरकार की इन सारी हरकतों में हार की बौखलाहट साफ झलकती है!'

अमहद पटेल ने आगे लिखा , चौकीदार और उनके शागिर्दो ने बिना किसी सबूत ग़लत जगह हाथ डाला है। नोटेबंदी और Rafale के दलाल अब बच नहीं पाएँगे।जनता सबक़ सिखा के रहेगी । वैसे यह कहावत आपने सुनी ही होगी कि एक चोर को हर कोई चोर ही नजर आता हैं!

याद दिला दें कि सनसनीखेज खुलासे करते हुए दलाल मिशेल ने यह भी माना की उसने डील के लिए 18.2 मिलियन यूरो की दलाली ली। सौदे में कुल 70 मिलियन यूरो की दलाली दी गई थी। मिशेल के साथ दलाल के तौर पर कांग्रेस के बड़े मंत्रियों के संपर्क में थे। पीएम के साथ मीटिंग दलाल फिक्स करते थे।  उसने माना की दलाल सीसीएस की मीटिंग भी फिक्स करवाते थे।  

बता दें कि क्रिश्चियन मिशेल पर अगस्ता-वेस्टलैंड डील में 36,00 करोड़ रुपए की मनी लॉन्ड्रिंग करने और रिश्वत लेने का आरोप है। मिशेल बहुचर्चित अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले में उन 3 बिचौलियों में से एक हैं, जिनके खिलाफ जांच की जा रही है। गुइदो हाश्के और कार्लो गेरेसा भी इस घोटाले में शामिल हैं।

मिशेल (57) को हेलीकॉप्टर सौदे के मामले में संयुक्त अरब अमीरात द्वारा प्रत्यार्पित किये जाने के बाद भारत लाया गया था। फिलहाल वह यहां तिहाड़ जेल में बंद है।
 

DO NOT MISS