General News

#MeToo| महिला IAS अफसर ने लगाए पंजाब के मंत्री खिलाफ आपत्तिजनक मैसेज भेजने का आरोप, कांग्रेस ने दी क्लीन चिट

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:


एक महिला IAS अधिकारी को कथित रुप से ‘आपत्तिजनक मैसेज’ भेजने पर पंजाब के एक मंत्री को बर्खास्त करने की तेज होती मांग के बीच प्रदेश कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि उसे अमरिंदर सिंह मंत्रिमंडल के इस सदस्य के खिलाफ कोई शिकायत नहीं मिली है.

यहां सीबीआई कार्यालय के बाहर कांग्रेस के प्रदर्शन के मौके पर पार्टी के पंजाब मामलों की प्रभारी आशा कुमारी ने कहा, ‘‘मंत्री के खिलाफ पार्टी को कोई शिकायत नहीं मिली है .’’ 

सीबीआई निदेशक को अधिकारों से वंचित कर छुट्टी पर भेजने के केंद्र के कदम के खिलाफ कांग्रेस के देशव्यापी प्रदर्शन के तहत यहां प्रदर्शन आयोजित किया गया था .

कुमारी ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री इस मामले पर पहले ही अपना विचार रख चुके हैं . बहरहाल, उनका कहना था, ‘‘संदेश भेजना मी टू के मामले का हिस्सा नहीं बन जाता. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘यौन उत्पीड़न संदेश भेजने से भिन्न होता है .’’ 

विपक्षी शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी मांग कर रही हैं कि संबंधित मंत्री को बर्खास्त किया जाए. माना जाता है कि मंत्री ने अधिकारी को कम से कम एक संदेश भेजा था. 

हाल ही में एक बयान जारी कर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा था कि जब यह मामला उनके पास पहुंचा तब उन्होंने मंत्री को उस महिला अधिकारी से माफी मंगवाया और ‘‘अधिकारी की संतुष्टि के हिसाब से मामला सुलझाया .’’ 

 शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने कहा था कि यह बड़ा स्तब्धकारी है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस मामले पर चुप हैं .

यह भी पढ़े - पंजाब में महिला IAS अफसर ने मंत्री पर लगाए आपत्तिजनक मैसेज भेजने के आरोप, कार्रवाई की मांग . . . .

यह भी पढ़े- भारत के 'टुकड़े-टुकड़े' करने की खालिस्तानी प्लान पर बोले CM अमरिंदर सिंह- 'पंजाब का माहौल बिगड़ने नहीं देंगे ' . . 

( इनपुट - भाषा से )

DO NOT MISS