pc-pti
pc-pti

General News

राउत की टिप्पणी के बाद भाजपा ने महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ गठबंधन पर साधा निशाना

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

 इंदिरा गांधी की गैंगस्टर करीम लाला से मुलाकात से संबंधित अपने विवादित बयान से शिवसेना नेता संजय राउत के पलटने के बाद भाजपा ने महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना, कांग्रेस, राकांपा के गठबंधन को अवसरवादी करार दिया।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बृहस्पतिवार को कहा कि (शिवसेना के) हर बयान से पलटने से पहले हर रोज कुछ न कुछ ‘‘सच’’ उजागर होगा।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं पर अक्सर मुंबई बम धमाकों के आरोपी दाउद इब्राहिम को देश से भगाने में मदद करने के आरोप लगते रहे हैं।

राउत ने बुधवार को यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि पहले कुछ माफियाओं का प्रभाव रहता था। उन्होंने यह भी दावा किया था कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी करीम लाला से मिला करती थीं।

कांग्रेस के इस पर कड़ा विरोध जताने के बाद राउत ने बृहस्पतिवार को कहा कि इंदिरा गांधी लाला से पठान समुदाय का प्रतिनिधित्व करने वाले नेता के तौर पर मिलती होंगी। हालांकि बाद में उन्होंने अपना बयान वापस ले लिया।

गठबंधन पर निशाना साधते हुए जावड़ेकर ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आने वाले समय में इसमें हर तरह के ‘‘सिनेमाई अनुभव’’ होंगे और ‘‘रोज रोज एक सच्चाई बताएंगे और दूसरे दिन उसे वापस ले लेंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह गठबंधन सत्ता की सहूलियत और अवसरवाद पर बना है।’’

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि राउत का बयान कांग्रेस की ‘‘सांप्रदायिक राजनीति’’ को दिखाता है कि वह एक गैंगस्टर को समुदाय का नेता मानती थी और वोट बैंक के लिए उससे समुदाय के प्रतिनिधि के तौर पर बर्ताव करती थी।

जावड़ेकर ने शिवसेना पर निशाना साधते हुए दावा किया कि उसके नेता अब बाल ठाकरे को ‘‘हिंदू हृदय सम्राट’’ के तौर पर पेश नहीं करते।

शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी पर दिए गए बयान से माफी मांग ली है। सूत्रों की माने तो शरद पवार ने फोन कर संजय राउत को मांफी मांगने को कहा । याद दिला दें कि शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने बुधवार को कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी भी अंडरवर्ल्ड के डॉन करीम लाला से मिलती थीं।

वहीं संजय राउत के बहाने महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने संजय राउत के बहाने कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि संजय राउत ने बहुत बड़ा खुलासा किया है । साथ ही उन्होंने कांग्रेस पर कई सवाल भी पूछा कि 'क्यों आती थीं इंदिरा गांधीजी मुंबई? क्या अंडरवर्ल्ड के सहारे कांग्रेस चुनाव जीतती थी? क्या कांग्रेस को अंडरवर्ल्ड की फंडिंग थी? क्या कांग्रेस पार्टी को चुनाव जीतने के लिए मसल पावर की जरूरत पड़ती थी?' 


(इनपुट-भाषा से भी )

DO NOT MISS