General News

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद का वार, कहा- 'तस्वीरें खिंचवाने कश्मीर गए NSA डोभाल'

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के केंद्र सरकार के फैसले से खड़ा हुआ राजनीतिक विवाद शांत ही नहीं हो रहा है।  कांग्रेस के तमाम नेता पाकिस्तान राग अलापते हुए  370 हटाने की प्रक्रिया पर सवाल खड़ा कर रहे हैं। 

सलमान खुर्शीद ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजित डोभाल के कर्तव्य और निष्ठा पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि वह तसत्वीरें खिंचवाने के लिए कश्मीर गए हैं। डोभाल 4 साल तक  पाकिस्तान में रहे अब वह कश्मीर में और ज्यादा वक्त तक रहें। 

कांग्रेस नेता खुर्शीद ने कहा कि ‘भाजा ने धारा 370 को हटाने का फैसला लिया, अगर उनके पास जम्मू-कश्मीर को भारत से और ज्यादा मजबूती के साथ जोड़ने के लिए धारा 370 से अच्छा कुछ है तो किसी को कोई आपत्ति नहीं होगी। उन्होंने जिस तरीके से धारा 370 को हटाया, वह संवैधानिक सवाल खड़े करता है।’

सलमान खुर्शीद ने कहा कि ‘जब तक आपके पास पहले से बेहतर और पर्याप्त विकल्प नहीं है तब तक ये राजनीतिक रूप से निश्चित तौर पर बुद्धिमानी नहीं है। हम सबका मानना है कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और हमने इसे प्रस्ताव को मजबूत किया है। लेकिन हमें नहीं लगता है कि भाजपा ने ऐसा दर्शाने वाला कोई काम किया है।’

ऐसा नहीं है कि पहली बार किसी कांग्रेस नेता कश्मीर को लेकर उजुल-फजूल बयान दिया हो। इससे पहले गुलाम नबी आजाद, चिदंबरम और दिग्विजय भी इस तरह के बेतुके बयान दे चुके हैं । गुलाम नबी आजाद ने डोभाल के कश्मीर आम जनता के साथ खाने पर सवाल उठाए  थे। उन्होंने कहा था कि पैसे देकर किसी को भी अपने साथ किया जा सकता है।

वहीं पी. चिदंबरम ने भी कश्मीर को लेकर बेतुके बयान दे चुके हैं। उन्होंने कहा कि कश्मीर  से मुस्लिम बहुसंख्यक के चलते अनुच्छेद 370 हटाई गई। हिंदू बाहुल्य होता तो कभी नहीं हटाते। सरकार अपनी ताकत दिखाना चाहती थी।

वहीं कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि सरकार ने अपने हाथ आग में झुलसा दिए हैं, सतर्क रहें नहीं तो कश्मीर खो देंगे। 


 

DO NOT MISS