General News

देवबंद का फतवा : महिलाओं को नाखून बढ़ाना और नेल पॉलिश लगाना इस्लाम में हराम

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

सहारनपुर के दारुल उलूम देवबंद ने सोमवार को एक महिला के खिलाफ केवल इसलिए फतवा जारी कर दिया है , क्योंकि उसने अपने नाखून पर नेल पॉलिश लगाए थे. 

फ़तवा में कहा गया है कि महिलाओं के लिए नाखुन काटना और नाखून पर नेल पॉलिश लगाना इस्लाम के खिलाफ है .

दाउल उमूल के मुफ्ती इशरार गौरना ने फतवा जारी कर कहा था कि इस्लाम में महिलाएं नाखून में मेंहदी लगा सकती हैं. नेल पॉलिश गैर इस्लामिक है. बता दें कि सहारनपुर के दाऊल उमूद के मुफ्ती ने इससे पहले भी महिलाओं से जुड़ी आदतो को लेकर कई फतवा जारी कर चुका है. 

पिछले साल 21 अक्टूबर को दाऊल उमूद के मुफ्ती ने इससे पहले फतवा जारी करते हुए कहा था कि सोशल मीडिया पर मुस्लिम पुरुषों और महिलाओं की फोटो अपलोड करना नाजायज है. दारूम उमूल देवबंद के एक शख्स ने यह सवाल किया था कि क्या फेसबुक , व्हाट्सअप और सोशल मीडिया पर पुरुष या महिलाओं की फोटो पोस्ट करना जायज है. इसके जबाव में फतवा जाी करते हुए दारूल उलूम ने यह कहा है कि मुस्लिम महिलाओं और पुरुषों को अपनी या परिवार के फोटो सोशल मीडिाय पर अपलोड करना जायज नहीं है, क्योंकि  इस्लाम इसकी इजाजत नहीं देता. 

यह भी देखें , किक बॉक्सिंग चैंपियन तजामुल इस्लाम का पूरा इंटरव्यू

दाऊल उमूद के मुफ्ती ने मुस्लिम महिलाओं के मेंहीद लगवाने को गैर इस्लामिक करार देने से पहले फरवरी में भी एक फतवा जारी किया था जिसमें मुस्लिम मिहालों के गैर मर्दों से चूड़ी पहने को दुकान पर इस्लाम के खिलाफ और पाप बताया गया था. उसके बाद जुलाई में देवबंध ने शरीर के अंगों की वैक्सिंग को शरिया के खिलाफ बताय था. 

यह भी पढ़े - बंगाल: अल्पसंख्यकों को रिझाने के लिए मुस्लिम उम्मीदवारों को ज्यादा टिकट देने पर विचार कर रही है BJP

यह भी पढ़े- राजस्थान: हिंदूवादी एजेंडे पर उतरे BJP मंत्री, बोले- मुस्लिम कांग्रेस को वोट देते हैं, आप हमारी पार्टी को वोट दें..

DO NOT MISS