General News

रूस ने कश्मीर मुद्दे पर भारत का किया समर्थन, कहा- फैसला संविधान के दायरे में

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

रूस ने जम्मू-कश्मीर पर भारत द्वारा उठाए गए कदम का समर्थन करते हुए कहा कि यह भारतीय संविधान के दायरे में है और उसने उम्मीद जताई कि भारत और पाकिस्तान आपसी मतभेदों को शिमला समझौते एवं लाहौर घोषणा के आधार पर द्विपक्षीय स्तर पर सुलाएंगे। 

भारत ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के लिए अनुच्छेद- 370 के अधिकतर प्रावधानों को हटा दिया था और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांट दिया था। 

रूसी विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘मॉस्को उम्मीद करता है कि दिल्ली द्वारा जम्मू-कश्मीर की स्थिति में बदलाव करने के मद्देनजर भारत और पाकिस्तान क्षेत्र में स्थिति बिगड़ने नहीं देंगे।’’ 

मंत्रालय ने कहा, ‘‘ हम इस तथ्य को ध्यान में रख कर आगे बढ़ रहे हैं कि जम्मू-कश्मीर की स्थिति में बदलाव और उसे बांटकर दो केंद्र शासित प्रदेश बनाने का फैसला भारतीय गणराज्य के संविधान के दायरे में है।’’ 

उसने कहा, ‘‘हम उम्मीद करते हैं कि इस फैसले के बाद संबंधित पक्ष क्षेत्र में तनाव बढ़ने नहीं देंगे।’’ 

रूस भारत और पाकिस्तान के सामान्य रिश्तों का समर्थक है। 

मंत्रालय ने कहा, ‘‘हम उम्मीद करते हैं कि दोनों देश मतभेदों को राजनीतिक और राजनयिक तरीकों से शिमला समझौता-1972 एवं लाहौर घोषणा पत्र-1999 के प्रावधानों के तहत द्विपक्षीय आधार पर सुलझाएंगे।’’ 

इधर जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त करने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के भारत सरकार के फैसले के समर्थन में हजारों भारतीय-अमेरिकी यहां शनिवार को भारतीय वाणिज्य दूतावास के सामने एकत्र हुए।

‘फ्रेंड्स ऑफ इंडिया सोसाइटी इंटरनेशनल’ (एफआईएसआई) की ह्यूस्टन इकाई और ‘ग्लोबल कश्मीरी पंडित डायस्पोरा’ (जीकेपीडी) की ह्यूस्टन इकाई के तत्वावधान में भारतीय अमेरिकियों ने ‘‘भारतीय लोकतंत्र की जय हो’’ और ‘‘भारतीय धर्मनिरपेक्षता की जय हो’’ जैसे नारे लगाए।

उन्होंने हाथ में बैनर पकड़ रखे थे, जिन पर लिखा था ‘‘अनुच्छेद 370, कठोर, भेदभावपूर्ण’’, ‘‘पाकिस्तान-आतंकवादियों को पैदा करना बंद करो’’ और ‘‘पाकिस्तान हमें शांति से जीने दो’’।

एफआईएसआई ने इस ‘‘ऐतिहासिक फैसले’’ के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘‘दूरदर्शी नेतृत्व’’ की प्रशंसा की।

यह भी पढ़े- Man Vs Wild शो का नया VIDEO :पीएम मोदी का नया डेयरिंग अंदाज आया सामने, कहा- 'मेरे मारने के संस्कार नहीं है'

DO NOT MISS