General News

बिहार में सीटों के बंटवारे पर महागठबंधन के प्रमुख घटकों का अलग मत सामने आया

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

बिहार में सत्तारूढ़ राजग द्वारा राज्य में आगामी लोकसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे का फॉर्मूला घोषित किये जाने के एक दिन बाद शनिवार को विपक्षी महागठबंधन के दो प्रमुख घटकों राजद एक कांग्रेस के सीटों के बंटवारे को लेकर अलग-अलग सुर सुनाई दिये. 

बिहार प्रदेश कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि गठबंधन के लिये सीटों के बंटवारे पर कांग्रेस और राजद आला कमान द्वारा अंतिम फैसला किया जाएगा. यह प्रक्रिया पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों की हलचल पूरी तरह थमने के बाद ही पूरा होने की उम्मीद है. 

c इस गठबंधन में पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की हिन्दुस्तारी आवाम मोर्चा (एचएएम) शामिल है और वाम दलों के साथ भी गठबंधन का चुनावी तालमेल हो सकता है.

कादरी ने प्रेट्र को बताया, मुझे नहीं पता कि राजद नेता किस आधार पर यह दावे कर रहे हैं. मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि कांग्रेस आलाकमान द्वारा ऐसा कोई भी फैसला प्रदेश इकाई की चुनाव समिति की अनुशंसा के आधार पर लिया जाएगा.  स्वाभाविक रूप से राजद के सर्वोच्च नेतृत्व को भी इस प्रक्रिया से अवगत रखा जाएगा.’’ 

उन्होंने कहा, लेकिन चुनाव समिति को अभी गठित किया जाना है. ऐसी किसी कवायद के मध्य दिसंबर से पहले होने की उम्मीद नहीं है क्योंकि समूची पार्टी मशीनरी मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना जैसे राज्यों में अहम विधानसभा चुनावों में व्यस्त है. 

यह भी पढ़े - बिहार में BJP -JDU बराबर सिटों पर चुनाव लडने के ऐलान के बाद उप्रेंद्र कुशवाहा से मिले तेजस्वी यादव  

ऐसी अटकलें हैं कि जिस प्रकार भाजपा ने बिहार में अपनी कुछ मौजूदा लोकसभा सीटों को छोड़ने और नीतीश कुमार की जदयू को अपने बराबर सीटें देने पर सहमति जतायी है, उसी प्रकार कांग्रेस भी अपने पुराने सहयोगी राजद ऐसी मांग कर सकती है. 

वर्ष 2009 के लोकसभा चुनावों और उसके एक साल बाद प्रदेश में हुए विधानसभा चुनावों में दोनों दलों ने सीटों के बंटवारे पर सहमति न बनने के बाद अलग-अलग चुनाव लड़ा था.  इसके चलते दोनों दलों को नुकसान उठाना पड़ा और राजग को शानदार जीत मिली. 

कादरी ने यह नहीं बताया कि कांग्रेस कितनी सीटों के लिये मांग करेगी लेकिन कहा कि सबसे पहला पैमाना जीत होगा. हम संबंधित पार्टी के लिये सीटों की संख्या जैसे छोटी बात पर जुबानी जंग में नहीं पड़ेंगे. 

यह भी पढ़े- 2019 लोकसभा चुनाव - BJP-JDU बिहार में बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेंगी . . . 

( इनपुट- भाषा से भी )

DO NOT MISS